पटना [जागरण टीम]। पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में बुधवार को 57.9 फीसद मतदान हुआ। इसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच देर रात मतगणना शुरू की गई। माना जा रहा है कि चुनाव परिणाम गुरुवार तक आएंगे। मतगणना में विलंब को लेकर छात्रों में असंतोष देखा जा रहा है। इस दौरान मीडिया को प्रवेश की इजाजत नहीं दी गई है।
बीते साल से अधिक हुआ मतदान
पटना विवि छात्रसंघ चुनाव बुधवार को भारी गहमा-गहमी के बीच संपन्‍न हुआ। कुल 20,330 मतदाताओं में 11,771 ने अपने मत का प्रयोग किया। पिछले साल 19,870 में 8,458 छात्र-छात्राओं ने मतदान किया था। यह पिछले चुनाव से 15.34 फीसद अधिक है। पिछले चुनाव में 42.56 फीसद मतदाताओं ने वोट दिया था, जबकि इस साल यह आंकड़ा 57.9 फीसद का रहा। इसके पहले साल 2012 में मतदान का फीसद केवल 35 ही था।
वीमेंस ट्रेनिंग कॉलेज में सर्वाधिक मतदान
सबसे अधिक 88 फीसद मतदान वीमेंस ट्रेनिंग कॉलेज की छात्राओं ने किया। कॉलेज ऑफ आर्ट एंड क्राफ्ट के 84 फीसद मतदाताओं ने वोट डाला। सबसे कम मतदान 39.6 फीसद मानविकी संकाय के छात्रों ने किया। वाणिज्य महाविद्यालय (49 फीसद) को छोड़कर सभी कॉलेजों में मतदान का फीसद 50 से अधिक रहा।
साढे तीन बजे तक छात्राओं ने किया मतदान
मगध महिला कॉलेज में मतदान की अवधि खत्म होने के डेढ़ घंटे बाद तक छात्राओं ने मतदान किया। निर्धारित समय दोपहर 2:00 बजे मतदान की अवधि समाप्त होने के बाद सभी मतदान केंद्रों का गेट बंद कर दिया गया। पंक्ति में खड़े सभी लोगों ने मतदान किया। पटना वीमेंस कॉलेज में निर्धारित समय के बाद लगभग 125 छात्राओं ने मतदान किया। यहां तीन बजे तक मतदान होता रहा। वहीं, मगध महिला कॉलेज के तीन बूथों पर लंबी लाइन लगी रही। वहां निर्धारित अवधि के बाद लगभग 250 छात्राओं ने मतदान किया।
वीमेंस व मगध महिला में दोगुना से अधिक वोटिंग
फरवरी के छात्रसंघ चुनाव में पटना वीमेंस कॉलेज की 22 तथा मगध महिला कॉलेज की 31 फीसद छात्राओं ने मतदान किया था। बुधवार को दोनों कॉलेजों की छात्राओं ने चुनाव में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। मतदान का फीसद पिछले चुनाव की तुलना में दोगुने से अधिक रहा है। पटना वीमेंस कॉलेज में 47 तथा मगध महिला कॉलेज में 68 फीसद मतदान हुआ है। पिछले चुनाव की तुलना में बीएन कॉलेज में लगभग पांच फीसद, पटना कॉलेज में तीन फीसद, वाणिज्य महाविद्यालय में दो फीसद, पटना साइंस कॉलेज में छह फीसद अधिक और पटना लॉ कॉलेज में लगभग पिछली बार के बराबर ही मतदान हुआ।
स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों में कम दिखा उत्साह
विभिन्न कॉलेजों में स्नातक के छात्रों ने पिछली बार से अधिक मतदान किया। वहीं, पीजी विभाग के छात्रों में मतदान को लेकर कम उत्साह देखा गया। फैकल्टी ऑफ साइंस में 50 फीसद मतदान हुआ। पिछली बार 50.17 फीसद विद्यार्थियों ने मतदान किया था। फैकल्टी ऑफ सोशल साइंस में इस बार मतदान सात फीसद कम रहा, जबकि सेंट्रल पैनल और काउंसलर की दो सीटों के लिए इन विभागों से सबसे अधिक प्रत्याशी थे।
मानविकी संकाय में वोट प्रतिशत लगभग 10 फीसद कम रहा। पिछली बार 49 फीसद तो इस बार 39.6 फीसद वोटिंग रही। फैकल्टी ऑफ कॉमर्स, एजुकेशन एंड लॉ में मतदान का फीसद लगभग पिछले बार की तरह रहा है।
कुलपति बोले: शांतिपूर्ण मतदान में छात्रों का सहयोग सुखद
चीफ इलेक्शन ऑफिसर प्रो. खगेंद्र कुमार ने बताया कि सभी बूथों पर शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान हुआ है। सभी प्रत्याशियों के पोलिंग एजेंट के सामने मतदान की पूरी प्रक्रिया संपन्न कराई गई है।
पटना विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रास बिहारी प्रसाद सिंह ने बताया कि पिछली बार से अधिक मतदान सुखद है। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण चुनाव के आयोजन में चुनाव कमेटी को जिला और पुलिस प्रशासन के साथ-साथ शिक्षकों, कर्मियों और विद्यार्थियों का सराहनीय सहयोग रहा है।
गुरुवार तक आएंगे परिणाम
मतदान के बाद आज देर रात तक मतगणना कर चुनाव परिणाम घोषित कर दिए जाने थे, लेकिन मतगणना ही देर रात में शुरू हो सकी। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि पूरे चुनाव परिणाम गुरुवार तक आएंगे।

Posted By: Kajal Kumari