जागरण संवाददाता, पटना : सीम कैसे है? जवाब मिला-120 रुपये किलो। और बोरो? 80 रुपये किलो। कंकड़बाग सब्जी मंडी में भाव पूछ महिला आगे बढ़ गईं। विक्रेता ने आवाज दिया- ले लीजिए मैडम, हर जगह यही भाव है। जवाब मिला- नहीं लेना है, पनीर ले लूंगी। सचमुच सब्जी बाजार में पहुंचते ही भाव सुनकर खरीदारों के होश उड़ने लगे हैं। परवल और फूल गोभी के भाव पहले से ही आसमानी हैं। अब बोरो, सीम का भाव भी बेलगाम हो गया है। बैंगन, भिंडी, करेला, कद्दू  और नेनुआ की मांग त्योहारों पर कम रहती है। इसके बावजूद इनका भाव भी 40 से 50 रुपये किलो चल रहा है। 

पिछले दिनों हुई बारिश का है असर

मीठापुर सब्जी मंडी के विक्रेता संजय कुमार ने कहा कि पिछले दिनों हुई बारिश के बाद से ही मंडी में 30 फीसद सब्जियां कम आ रही हैं। इसलिए सभी सब्जियों के भाव बढ़े हैं। कुछ सब्जियों की त्योहारी मांग निकलने से कीमत बढ़ी है। सफेद परवल तो मिल ही नहीं रहा है। फूलगोभी की आमद भी मांग के अनुरूप नहीं है। इसलिए सब्जी बाजार बेपटरी है। प्याज और पुराने आलू की कीमत भी तीन से पांच रुपये प्रति किलो बढ़ गई है। 

सब्जी और कीमत
सीम - 120 
परवल सफेद - 80
परवल हरा - 50 
सीम - 120 
बोरो - 80 
 फूल गोभी - 60 पीस
बैंगन - 50
भिंडी - 40 से 50
नेनुआ - 30 से 40
कद्दू - 30 से 40
प्याज - 45 से 50 
आलू - 22 से 25
ओल - 40 से 60
(भाव रुपये में) 

बता दें कि पेट्रोल और डीजल  के दाम बढ़ने का असर सब्जियों पर भी दिख रहा है। कई रोज मर्रा की तरकारी के दाम आसमान छूने लगे हैं। ऐसे में रसोई का बजट भी बिगड़ गया है। आम से लेकर खास तक सब्जियों के बढ़े दाम को लेकर परेशान हैं। जानकार बताते हैं कि अभी जल्द राहत नहीं मिलने वाली है। 

Edited By: Akshay Pandey