वैशाली, जेएनएन। वैशाली के हाजीपुर स्थित ऐतिहासिक बाबा पतालेश्वरनाथ मंदिर से महाशिवरात्रि के मौके पर मंदिर परिसर से शिव की भव्य बरात निकली। इस बरात में इस बार खास दृश्य देखने को लोग बेताब थे। शुक्रवार को महाशिवरात्रि के मौके पर जैसे ही केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय अपने परिवार के साथ पहुंचे हर-हर महादेव के जयघोष से मंदिर परिसर गूंज उठा। हरे रंग के कुर्ता एवं सफेद रंग की धोती और सिर पर लाल रंग के गमछा की पगड़ी बांधे नित्यानंद ने हाथों में रूद्राक्ष बांध रखा था।

मंदिर परिसर से शिव बरात को लेकर निकले नित्यानंद पांच किमी की दूरी तय कर मुख्य समारोह स्थल अक्षयवट राय स्टेडियम शाम में पहुंचे। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के रूप में पहली बार शिव बरात में बाबा भोलेनाथ के गाड़ीवान बने नित्यानंद की झलक पाने को लोग बेचैन थे। सुरक्षा के खास बंदोबस्त के बीच नित्यानंद ने हाथ जोड़कर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया।

बैलगाड़ी पर नित्‍यानंद की पत्‍नी व बेटी थीं मौजूद

बाबा की बैलगाड़ी पर नित्‍यानंद राय के साथ पत्नी अमिता देवी एवं बेटी भी थी। गाड़ी के आगे भूत-बैताल बने दर्जनों युवक चल रहे थे और पीछे-पीछे सैकड़ों झांकियां, बैंड-बाजा, आर्केष्ट्रा व भांगड़ा पार्टी वाले। महाशिवरात्रि के पावन मौके पर हाजीपुर के लाखों लोगों ने शुक्रवार को इस अनूठे दृश्य का दीदार किया। पातालेश्वर नाथ से निकली भगवान शिव की बरात मस्जिद चौक होते हुए थाना चौक, गुदरी बाजार, राजेंद्र चौक, सिनेमा रोड, यादव चौक, अनवरपुर चौक, डाकबंगला रोड होते हुए शाम के करीब चार बजे अक्षयवट राय स्टेडियम पहुंची। भगवान शिव की बरात देखने के लिए सड़क के दोनों ओर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जमा थी। 

दो दशक से नित्यानंद कर रहे परंपरा का निर्वहन 

पहली बार केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री बने नित्यानंद राय हाजीपुर में महाशिवरात्रि पर निकलने वाली शिव की भव्य एवं आकर्षक बरात में बाबा भोलेनाथ के गाड़ीवान बने। गाड़ीवान की भूमिका में बाबा भोलेनाथ को बैलगाड़ी पर सवार कर बरात में शामिल होते हैं। अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत के पहले से ही नित्यानंद राय इस परंपरा का निर्वहन करते आ रहे हैं। हाजीपुर से चार दफा भाजपा के विधायक, उजियारपुर के सांसद एवं भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष रहते इस परंपरा का निर्वहन किया। 

सुरक्षा के थे खास इंतजाम 

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बरात में शामिल होने को लेकर सुरक्षा का खास बंदोबस्त किया गया था। बाबा भोलेनाथ को लेकर जिस बैलगाड़ी के नित्यानंद गाड़ीवान बने थे, उसके चारों ओर एसएसबी के जवानों ने घेराबंदी कर रखी थी। इसके अलावा बीएमपी एवं जिला सशस्त्र बल के जवानों ने सुरक्षा को लेकर मोर्चा संभाल रखा था। हाजीपुर सदर के एसडीएम संदीप शेखर प्रियदर्शी एवं एसडीपीओ राघव दयाल सुरक्षा इंतजामों पर पैनी नजर रख पैदल चल रहे थे। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस