पटना सिटी। एसएसपी के निर्देश पर खाजेकलां थाना पुलिस ने रविवार को नकली नोट बनानेवाले गिरोह का भंडाफोड़ कर दो सदस्यों मो. आमिन व मो. आमिर खान को गिरफ्तार किया है। तलाशी के दौरान आरोपितों के पास से नकली नोट बनानेवाले स्कैनर, प्रिटर, नौ मोबाइल, दो खाली मैगजीन, 7.65 एमएम की एक गोली व 20 से 200 रुपये के प्रिट नकली नोट बरामद किए। गिरोह का तीसरा साथी मो. जिशान फरार है। पूर्वी एसपी ने बताया कि गिरफ्तार युवकों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि गिरफ्तार युवकों का कनेक्शन कहीं आतंकी गिरोह से तो नहीं है।

पूर्वी एसपी जीतेंद्र कुमार ने खाजेकलां थाना में बताए कि गुप्त सूचना के आधार पर दुरूखी गली चोआ लाल लेन में पुलिस द्वारा रविवार की सुबह 8:30 बजे छापेमारी कर 20, 50, 100 व 200 रुपये के नोट का कलर प्रिट के साथ सैयद हसन के पुत्र मो. आमिन उर्फ इरफान को गिरफ्तार किया। घर से पुलिस ने दो खाली मैगजीन व एक गोली भी बरामद की। मो. आमिन की निशानदेही पर पुलिस ने दूसरे सहयोगी मो. आमिर खान नबाव बहादुर रोड से गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आमिन के पास से पुलिस ने 200 रुपये के चार, 100 रुपये के 63, 50 रुपये के 10 तथा 20 रुपये के पेपर पर प्रिट प्रति जब्त किया।

सहायक पुलिस अधीक्षक मनीष कुमार के समक्ष गिरफ्तार आरोपितों ने बताया कि लगभग तीन माह पूर्व यू ट्यूब पर बताए गए विधियों ने उनलोगों ने स्कैनर व प्रिटर से नोट बनाने का काम शुरू किया। उनलोगों ने यू ट्यूब पर बताए गए कागज के अनुसार बांड पेपर खरीदकर लाए। इसके बाद सही नोट से मिलते-जुलते 100 का दस नोट बाजार में जाकर खरीदारी की तो पकड़ में नही आया। इसके बाद नकली नोट बनानेवालों का मनोबल बढ़ता गया और दोस्त के सहयोग से असली नोट का स्कैन कर नकली नोट बनाने लगे।

पुलिस का मानना है कि गिरफ्तार युवक एक लाख से अधिक का नकली नोट निर्माण कर चुके हैं। खाजेकलां थानाध्यक्ष सनोवर खान के अनुसार, गिरफ्तार नकली नोट निर्माण करनेवाले युवक का भाई व तीसरा सहयोगी मो. जिशान आपराधिक मामलों में चार्ज शीटेड है। छापेमारी के दौरान वह फरार मिला।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप