पटना [जेएनएन]। टीवी सीरियल चंद्रकांता तो आपको याद ही होगा। सीरियल में आलीशान महल में रहने वाले विजयगढ़ के राजकुमार वीरेंद्र बिहार के रहने वाले विशाल हैं। माता-पिता चाहते थे कि बेटा पढ़-लिखकर बड़ा अधिकारी बने, लेकिन विशाल को बचपन से ही वे एक्‍टर बनने का जुनून था।

बिहार के भोजपुर स्थित बिहिया गांव के रहने वाले विशाल की पहचान 'चंद्रकांता' के राजकुमार वीरेंद्र के रूप में होती है। बिहिया के उनके पैतृक दो-मंजिले घर में उनका परिवार रहता है। किसान परिवार में जन्मे विशाल एक्‍टर बनना चाहते थे, लेकिन उनके लिए यह आसान नहीं था।

विशाल बचपन में काफी गोलमटोल व शरारती थे। फुटबॉल व क्रिकेट उनका से खूब लगाव था। फिटनेस काे लेकर गंभीर विशाल हर सुबह दौड़ने जाते थे। लेकिन, इसके बावजूद उनका ध्‍यान पढ़ाई से नहीं भटकता था। पिता अजीत सिंह ने बताया कि वे चाहते थे कि विशाल पढ़-लिखकर बड़ा अधिकारी बने। इसलिए उसे पढ़ने के लिए पटना भेजा। लेकिन, बकौल विशाल, पटना में वे ग्रेजुएशन की पढ़ाई के साथ मॉडलिंग भी करने लगे। इसी बीच एक सीमेंट कंपनी के विज्ञापन में काम करने का मौका मिला, जिसने उन्‍हें पहचान दी।

मां वीणा सिंह बताती हैं कि पढ़ाई खत्म करने के बाद विशाल ने एक्टिंग में करियर बनाने की बात कही तो पूरा परिवार चिंतित हो गया। परंपरागत ग्रामीण परिवार का बेटा एक्टिंग में जाए, यह बात गले नहीं उतर रही थी। लेकिन, होनी तो होकर रहती है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस ने कहा- हमें नीतीश की जरूरत नहीं, जदयू ने किया पलटवार

विशाल को एक भोजपुरी चैनल में काम मिला। उसने जय..जय.. शिव शंकर' सीरियल से काम शुरू किया। इसके बाद सीरियल 'बच्चन पांडेय की टोली' मिली। भोजपुरी सीरियल ने विशाल को पहचान दी। फिर,'चंद्रकांता' ने उन्‍हें देश-दुनिया में स्‍थापित कर दिया।

यह भी पढ़ें: बिहार में मिली मणिपुर के CM की लापता रिश्तेदार, प्रेमी से किया कोर्ट मैरिज

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस