पटना फुलवारीशरीफ। डिप्टी कलेक्टर के बंद घर का ताला काटकर चोरों ने नकदी समेत दस लाख रुपये की संपत्ति चोरी कर ली। घटना फुलवारीशरीफ के नोहसा कॉलोनी की है। नोहसा निवासी मो. जफर आलम रोहतास में डिप्टी कलेक्टर हैं। एक जून को मो. जफर आलम पूर्णिया के अहिलगाव छोटे भाई की शादी में शामिल होने गए थे। शनिवार को जब फुलवारीशरीफ के नोहसा घर लौटे तो देखा कि सभी कमरे का ताला टूटा हुआ है और सामान बिखरे थे। गृहस्वामी ने घटना की जानकारी फुलवारीशरीफ थाने को दी। पुलिस इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाल कर चोरों की पहचान में जुटी हुई है।

डिप्टी कलेक्टर मो. जफर आलम ने बताया कि चोर छत के रास्ते घर में घुसे। सीढ़ी के पास लगे गेट को पहले तोड़ा। इसके बाद दो कमरे का ताला तोड़ चोरी की घटना को अंजाम दिया। चोरों ने घर में रखे सोने के जेवरात, दो लैपटॉप, तीन मोबाइल व कैमरा चोरी कर ली। थानाध्यक्ष रफिकुर्हमान ने बताया कि चोरों की पहचान की जा रही है। जागरण संवाददाता, पटना सिटी : आलमगंज थाना क्षेत्र के गौरीशंकर कॉलोनी में रहने वाले प्रेम लाल की पुत्री निधि कुमारी के बैंक खाते से जालसाजों ने दस लाख रुपये निकाल लिए। पीड़िता के बयान पर आलमगंज थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई।

पूणा में इंफोसिस कंपनी में काम करने वाली निधि ने बताया कि 4 जून को निजी बैंक से पर्सनल लोन 12 लाख 40 हजार रुपये स्वीकृत होने की सूचना जीमेल पर मिली। मेरे खाता में रुपया भी आ गए। पीड़िता ने बताया कि अचानक उसके खाता से अचानक 10 लाख रुपये स्थानांतरित हो गया। बैंक से पता करने पर जानकारी मिली कि रकम गायत्री दास के एसबीआइ खाता में स्थानांतरित हो गया है। इस संबंध में जानकारी लेने पर पता चला कि पश्चिम बंगाल के खाताधारी अरुण पांडा की पुत्री गायत्री दास पांडा के नाम स्थानांतरित हो गया है। उस खाता में दर्ज मोबाइल नंबर चार जून की रात ही बंद कर दिया गया है। आलमगंज थाना पुलिस ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस