इस्‍लामपुर (नालंदा), संवाद सूत्र। इस्‍लामपुर थाना क्षेत्र के हनुमानगढ़ में पहले से रोक लगाए जाने के बावजूद मेला लगने की सूचना पर पहुंची पुलिस के साथ स्‍थानीय लोगों की भिडंत हो गई। लोगों ने पुलिस-प्रशासन पर जमकर पथराव कर दिया। इस घटना में कई पुलिसकर्मी चोटिल हो गए। थानाध्‍यक्ष चंद्रशेखर सिंह का सिर फट गया। लोगों ने वज्रवाहन की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्‍त कर दिया। वहां अफरातफरी की स्थिति मची रही। 

पथराव में पुलिस की गाड़ी भी हो गई क्षतिग्रस्‍त 

बताया जाता है कि कोरोना को देखते हुए प्रशासन ने हनुमानगढ़ मेले पर रोक लगा दी थी। बावजूद शनिवार को मेला लग गया। सूचना मिलते ही बीडीओ, सीओ, इंस्‍पेक्‍टर, थानाध्‍यक्ष वहां पुलिस बल के साथ पहुंचे। मेले में आए लेागों और दुकानदारों को वापस जाने के लिए  बोला जा रहा था। इस क्रम में दुकानें बंद कराई जा रही थी। इसी दौरान कुछ लोगों ने पुलिस पर ईंट-पत्‍थर फेंकना शुरू कर दिया। पुलिस को भीड़ के तेवर देख वहां से भागना पड़ा। इस दौरान वहां स्थिति संभालने की कोशिश कर रहे थानेदार का सिर पथराव में फट गया। 

मकर संक्रांति पर लगता है दो दिवसीय मेला

बताया जाता है कि मकर संक्रांति के अवसर पर हर वर्ष यहां दो  दिवसीय मेला लगता है। हनुमान जी के मंदिर में लोग पूजा-अर्चना करते हैं। आज भी यहां मेला लगा था। लोगों की काफी भीड़ थी। प्रशासन पूर्व में ही कोरोना को लेकर यहां मेला नहीं लगाने का अनुरोध कर चुका था। बावजूद यहां झूले लगे थे। दुकानें सजी थीं। दूर-दूर से लोग आए थे। पुलिस-प्रशासन ने दोपहर में दुकानें हटवाना शुरू किया। लोगों को लौटने को कहा जाने लगा। इसी क्रम में कुछ उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इस कारण वहां भगदड़ मच गई। लोग इधर उधर भागने लगे। फिलहाल वहां पुलिस कैंप कर रही है। अभी वहां शांति की स्थिति है। 

Edited By: Vyas Chandra