पटना [राज्य ब्यूरो]। दिल्ली के द्वारिका में दो एकड़ में प्रस्तावित बिहार सदन के निर्माण को प्रशासनिक स्वीकृति मिल गई है। बिहार सदन दस मंजिला होगा। पहली बार बिहार के बाहर राज्य सरकार द्वारा इतने बड़े भवन का निर्माण कराया जा रहा है। भवन निर्माण विभाग से मिली आधिकारिक जानकारी के अनुसार इस दो एकड़ जमीन में बननेवाले बिहार सदन परिसर में बड़ा हिस्सा हरियाली के लिए छोड़ा गया है।

सौ कमरे का होगा निर्माण

बिहार सदन के जिस डिजायन को मंजूरी दी गई है उसके तहत सौ कमरे का निर्माण कराया जा रहा है। सभी कमरे डबल बेड होंगे। इसके अतिरिक्त सपोर्टिंग स्टाफ के लिए बिहार सदन परिसर में अलग से क्वार्टर होंगे।

ग्राउंड फ्लोर पर बिजनेस सेंटर

दिल्ली में राज्य सरकार की लगातार होने वाली बैठकों को ध्यान में रख बिहार सदन में एक बड़ा बिजनेस सेंटर भी बनेगा। इस संबंध में बताया गया कि बिजनेस सेंटर अत्याधुनिक बनाया जाएगा। दो हिस्से में यह बनेगा। एक हिस्से में लगभग सौ लोगों के साथ बैठक की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

दो फ्लोर वीआइपी और वीवीआइपी के लिए

तय योजना के अनुसार बिहार सदन के दो फ्लोर पर वीआइपी और वीवीआइपी सूइट बनाए जाएंगे। यह आधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा । पूर्व में बिहार सदन के डिजायन में स्वीमिंग पुल के निर्माण का भी प्रस्ताव था। अब जिस डिजायन को मंजूरी दी गई है उसमें स्वीमिंग पुल नहीं है।

कुर्सी क्षेत्रफल 14771.30 वर्गमीटर

बिहार सदन का कुर्सी क्षेत्रफल 14771.30 वर्गमीटर होगा। राज्य योजना मद से इसके निर्माण के लिए वित्तीय वर्ष 2017-18 में 10 करोड़ तथा वित्तीय वर्ष 2018-19 में 68.17 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप