पटना, जेएनएन। राजधानी में अपराधी कितने बैैखौफ हैं इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता। शहर के एक ही मोहल्ले में महीने भर में बड़ी-बड़ी बारदात हो जा रही है। रविवार को तो हद ही हो गई। रामकृष्णनगर थाना क्षेत्र के नंद लाल छपरा में देर रात आठ से दस डकैतों ने प्रोफेसर के घर में डाका डाल दिया। मुख्य दरवाजा तोड़कर घर में घुसे डकैत हथियार के बल पर महिलाओं को बंधक बनाकर एक घंटे तक लूटपाट करते रहे।

घर में मौजूद कुछ महिलाओं के हाथ-पैर बांध दिए। डकैत घर में रखे करीब छह लाख के आभूषण और तीन लाख रुपये नकद समेटकर ले गए। गृह स्वामी की सूचना पर मौके पर रामकृष्णनगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन में जुट गई। घटना की सूचना पाकर एसएसपी गरिमा मलिक और सिटी एसपी, डीएसपी सहित आसपास के थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंची। एसएसपी ने बताया कि वारदात में शामिल बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम गठित की गई है। जल्द ही सभी अपराधियों की गिरफ्तारी होगी।

दरवाजा टूटने पर खुली नींद तो सामने थे बदमाश

रामकृष्णनगर थाना के नंद लाल छपरा में थरथरी हिलसा निवासी प्रोफेसर विनोद कुमार मकान बनाकर रहते हैं। वह फतुहा में प्रोफेसर हैं। उनकी मां का देहांत हो गया था और श्रद्ध में शामिल होने के लिए अपने गांव गए हुए थे। घर में केवल महिलाएं थीं। विनोद प्रसाद की बेटी प्रियंका ने बताया रविवार की रात हम सब खाना खाकर सोने चले गये थे। रात एक बजे के बाद मुख्य दरवाजा तोड़कर आठ से दस डकैत घुस आए। जब उन्होंने घर का दरवाजा तोड़ा तब आवाज सुनकर नींद खुली।

जब तक हम कुछ समझ पाते कि चार से पांच बदमाशों ने हथियार तान दिया। कब्जे में लेकर कमरे में रखे कपड़े से हाथ व मुंह बांध दिए। बदमाशों ने अलमारी और दीवान खोलकर उसमें रखे तीन लाख रुपये नकद एवं करीब छह लाख के सोने के जेवरात एक कपड़े में लपेट लिए। करीब एक घंटे तक डकैत घर में रहे। थानाध्यक्ष सुबोध कुमार ने बताया कि तीन लाख रुपये नकद एवं पांच लाख के गहने ले जाने की बात घर की महिलाओं ने बताई है।

पत्नी और बहू को दूसरे कमरे में बनाए रखा बंधक

अपराधियों ने विनोद कुमार की पत्नी बिंदा सिन्हा और बेटी प्रियंका व बहू दिव्या को एक स्थान पर बांध दिया था। दो बदमाश उन पर हथियार ताने थे। अपराधियों के जाने के बाद सूचना रामकृष्ण नगर थाने की पुलिस को दी गई। दस मिनट बाद ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। सूचना मिलने के थोड़ी देर में एसएसपी गरिमा मलिक और सिटी एसपी भी पहुंच गए। छानबीन में पता चला कि अपराधियों ने मकान के मुख्य दरवाजे को तोड़ कर प्रवेश किया। सीढ़ी से होते हुए घर के ऊपरी तल पर चले गये। सीढ़ी पर दरवाजा लगा था। उसे धक्का देकर तोड़ा डाला। फिर सीधे उस कमरे में गए जहां गृहस्वामी की पत्नी, बेटी व बहू सो रही थी। सूचना मिलने के बाद विनोद कुमार भी गांव से घर पहुंच गये थे।

Posted By: Akshay Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप