पटना, जेएनएन। बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने एक बार फिर सीएम नीतीश कुमार और डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी पर हमला बोला है। तेजस्‍वी ने बुधवार को ट्वीट कर दोनों नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि एनडीए ने बिहार को सर्कस बना दिया है। उन्‍होंने एनडीए के घटक दल में शामिल भाजपा और जदयू पर कुत्‍ते-बिल्‍ली की तरह लड़ाई करने का आरोप लगाया है। बता दें कि पिछले दिनों जाप नेता पप्‍पू यादव ने भी एनडीए के दोनों दलों पर चूहा-बिल्‍ली की तरह लड़ाई करने का आरोप लगाया था।

 नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने बुधवार को अपने पहले ट्वीट में नीतीश कुमार के साथ ही एनडीए पर भी निशाना साधा। उन्‍होंने ट्वीट में लिखा- 'NDA ने बिहार को सर्कस बना दिया है। विफलता छुपाने के लिए ये लोग कुत्ते-बिल्ली की तरह झगड़ रहे हैं। क्या सृजन घोटाले और बालिकागृह बलात्कार कांड का डर है, जो इतनी लानत-मलानत होने के बावजूद भी नीतीश जी नैतिकता और अंतरात्मा नहीं जगा, उल्टा कुर्सी के लालच में विचार बेच मनुहार में लगे हैं।

इसके बाद तेजस्‍वी ने एक और ट्वीट किया है। इस ट्वीट में उनहोंने डिप्‍टी सीएम सुशील मोदी पर तंज कसा है। उन्‍होंने सुशील मोदी को वाइस कैप्‍टन की संज्ञा से नवाजा है। तेजस्‍वी ने ट्वीट में सुशील मोदी के लिए लिखा है- ' हैलो मिस्‍टर वाइस कैप्‍टन..। उन्‍होंने ट्वीट में डिप्‍टी सीएम से कहा है कि आपका कैप्‍टन मैदान में अकेला है और आपके वफादार सहयोगी उसे बोल्‍ड और रन आउट कर रहे हैं। ऐसे में क्‍यों अपराधी की तरह भाग रहे हैं और छिप रहे हैं। उसे बचाया जाना ठीक है, लेकिन आपके लिए सीएम के दशहरा कार्यक्रम का बहिष्कार करना आसान नहीं होगा, यह नहीं है। 

इतना ही नहीं, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बुधवार को लंबे समय बाद राजद कार्यालय पहुंचे। प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामचंद्र पूर्वे के साथ बैठक की। मीडिया से बातचीत भी की। पटना में जलजमाव में फंसे लोगों के बीच राहत पहुंचाने के सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि उन्होंने एक साल पहले ही सड़क पर उतरकर पटना को जलजमाव से बचाने की हिदायत दी थी। बावजूद ड्रेनेज सिस्टम को ठीक नहीं किया गया। डिप्टी सीएम सुशील मोदी को रेस्क्यू कर निकालना शर्म की बात है।

तेजस्वी ने कहा कि आपदा के समय सरकार को अपना काम करने देना चाहिए। उनकी पार्टी के लोग लगातार राहत कार्य में जुटे थे। सिर्फ पप्पू यादव ही क्यों, गिरिराज सिंह एवं नीतीश कुमार के साथ सबको मिलकर पीडि़तों की मदद करनी चाहिए, किंतु जो सरकार में बैठे हैं, वही लड़ रहे हैं। राजद कार्यालय में रामचंद्र पूर्वे के अलावा चितरंजन गगन एवं भाई अरुण कुमार भी मौजूद थे। 

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप