पटना [जेएनएन]। पसराहा थानाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह और अपराधियों के बीच हुई मुठभेड़ में आशीष सिंह शहीद हो गए। इस घटना को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर करारा हमला किया और साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कटघरे में ला खड़ा किया।

तेजस्वी ने अपने ट्वीट में लिखा कि बिहार में अपराधी सरेआम पुलिस की छाती में गोली ठोक रहे हैं और मुख्यमंत्री नीतीश जी कहते हैं आल इज वेल।

तेजस्वी ने ट्वीट में कहा कि अपराधियों ने बिहार में एसएचओ को गोली मारी और नीतीश जी कहते हैं आल इज वेल और यहां अपराधी सामान्य नागरिकों के बाद अब पुलिस की छाती में गोली ठोंक रहे हैं। सीएम की नाकामी से सूबे में एके-47 और सनसनीखेज अपराधों की जहरीली खेती हो रही है। पूरा सूबा खौफजदा है।

अपने अगले ट्वीट में तेजस्वी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 27 साल से एक राजनीतिक कार्यकर्ता की हत्या का केस चल रहा है। जो मुख्यमंत्री ख़ुद हत्या आरोपी है, उसे दूसरे हत्यारों से तो सहानुभूति होगी ही।

एक हत्या आरोपी मुख्यमंत्री दूसरों के साथ कैसे न्याय करेगा?

साहब, जनता बगुले और कौए का अंतर समझती है।

बता दें कि खगड़िया जिले के मोजमा दियाराक्षेत्र में शुक्रवार की देर रात अपराधियों के साथ हुई मुठभेड़ में पसराहा के थाना प्रभारी आशीष कुमार सिंह शहीद हो गए, जबकि एक अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गया। इस मुठभेड़ में पुलिसकर्मियों ने एक अपराधी को भी मार गिराया। यह मुठभेड़ गंगा नदी के सलारपुर दियारा इलाके में हुई। मुठभेड़ में दिनेश मुनि गिरोह शामिल है।

इस घटना के बाद बिहार में राजनीतिक बयानबाजी तेज है और आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। जहां बढ़ते अपराध पर भाजपा नेता ने भी कड़ा रूख दिखाया है वहीं राजद-कांग्रेस ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया है। 

Posted By: Kajal Kumari