पटना [जेएनएन]। बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सूबे में जाति की राजनीति करनेवालों को ललकारा है। उन्होंने कहा कि वैसे लोगों को बिहार में जंगलराज नहीं दिखता है। ​अररिया और वैशाली में हुई हत्या को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाने पर लिया है। इसे लेकर उन्होंने बुधवार को ताबड़तोड़ चार ट्वीट किये हैं। 

तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा, 'जंगलराज के नाम पर छाती पीट मातम मनाने वाले लोग आज बिहार की बदहाल हो चुकी कानून व्यवस्था पर चुप हैं, क्योंकि बिहार में सामाजिक न्याय की सरकार नहीं है। दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों के गठजोड़ की सामाजिक न्याय वाली सरकार आते ही जातिवादियों को बिहार में जंगलराज दिखने लगता है।' 

वे यहीं पर नहीं रुके। वैशाली में पटना के ट्रांसपोर्टर दीना नाथ राय की हुई हत्या पर नीतीश कुमार को घेरते हुए लिखा- 'बिहार के वैशाली में एक और बड़े ट्रांसपोर्ट व्यवसायी की गोली मारकर हत्या। बिहार में बहार है। गोलियों की बौछार है। अपराधियों का लहर है। व्यापारियों पर कहर है। क्योंकि नीतीशे कुमार है।' 

इसी तरह अररिया मामले पर उन्होंने ट्वीट किया, 'लो जी, अररिया में भी एक व्यवसायी की हत्या। गूंगी, बहरी, अंधी, निर्मम और निर्लज्ज नीतीश सरकार को ना तो लोगों की कराह व अपराधियों की AK-47 की तड़तड़ाहट सुनाई दे रही और ना ही निर्दोष लोगों के खून से सनी गलियां व सड़कें दिखाई दे रही हैं। इन्हें तो बस छल, फरेब से युक्त कुर्सी से मतलब है।'  

अपने चौथे ट्वीट में तेजस्वी यादव ने लिखा है कि 'बिहार में कानून व्यवस्था आइसीयू में है। अपराधियों ने व्यवस्था को अपने जूते की नोक पर रखा हुआ है। सीएम और डिप्टी सीएम अपराधियों के आगे हाथ-पांव जोड़कर गिड़गिड़ा रहे हैं। नीतीश जी ने राजधर्म नागपुर में गिरवी रख थानों को गुंडे-मवालियों के हाथों नीलाम कर दिया है। जनता त्रस्त है।'

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप