पटना [जेएनएन] । बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को जदयू की राज्‍य परिषद की बैठक में रोचक बयान दिया था तथा अपने पार्टी के लोगों के साथ ही विरोधियों को भी कड़ा मैसेज दिया था। उन्‍होंने 'खचखच-पचपच' वाला बयान दिया था। इसी पर शनिवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने बयान जारी कर 'घिचपिच-डिचपिच' वाले बयान से पलटवार किया है।   

बता दें कि पटना के रवीन्द्र भवन में शुक्रवार को आयोजित जदयू की राज्य परिषद की बैठक में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने बिना नाम लिये कड़े शब्दों में कहा कि कान खोलकर सुन लीजिए, बिहार में NDA में कहीं कोई 'खचखच-पचपच' नहीं है। उन्होंने बड़बोले नेताओं को चेताया और कहा कि जो लोग गड़बड़ी या भ्रम फैला रहे हैं, ऐसी बयानबाजी करने वालों को चुनाव के बाद पता चलेगा और आप लोग भी देख लीजिएगा।

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के इस बयान का नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने पलटवार करते हुए लिखा है- आदरणीय नीतीश जी कहते हैं कि उनके अलावा सब लोग 'खचखच-पचपच' में लगे रहते हैं। लेकिन विगत 15 वर्ष से सबसे ज़्यादा 'घिचपिच-डिचपिच' तो नीतीश चाचा कर रहे हैं। घिचपिच-डिचपिच करके ही तो बैसाखी के सहारे 15 सालों से मुख्यमंत्री बने हुए हैं। अपने काम पर अगर नीतीश जी को भरोसा है तो अकेले चुनाव लड़कर देख लें। तब उन्हें अपने चेहरे और काम का आभास हो जाएगा। 

तेजस्‍वी यहीं पर नहीं रुके। उन्‍होंने अपने बयान में कहा है कि मैं मुख्यमंत्री नीतीश जी से कहना चाहता हूं कि युवा पीढ़ी को जनादेश लूटने, पलटी मारने, थीसिस चुराने, नीति, सिद्धांत और विचार का सौदा करने वाले से 'क ख ग घ' नहीं सीखना। विरोधियों को चुनाव बाद देख लेने की धमकी देने वाले एवं घिचपिच, डिचपिच और अंड-बंड जैसी शब्दावली का प्रयोग करनेवाले मुख्यमंत्री से हमें  'कखगघ' नहीं सीखना।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस