जागरण टीम, पटना। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने एक बार फिर सनसनीखेज बयान दिया है। असदुद्दीन ओवैसी की आल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के चार विधायकों को तोड़ने पर हर तरफ आरजेडी की ही चर्चा है। बिहार के पूर्व सीएम लालू का राजद अब राज्य में सबसे बड़ा दल बन गया है। आरजेडी के विधानसभा में 80 एमएलए हो गए हैं। इस मामले में भाजपा दूसरे तो जदयू तीसरे नंबर पर है। इस बीच राजद विधायक तेजप्रताप ने गुरुवार को बड़ा बयान दिया है। मीडिया से बात करते हुए तेजप्रताप ने कहा कि मैंने विधानसभा अध्यक्ष से मिलने के लिए दो मिनट का समय मांगा है। उन्होंने कहा कि दो मिनट में क्या-क्या हो सकता है आप तो जानते ही हैं। तेजप्रताप ने कहा कि लालू यादव ने अभी छोटा खेला किया है। बड़ा खेला होना अभी बाकी है। कुछ बातें गुप्त हैं। जल्द ही वह सामने आएंगी। हसनपुर एमएलए का इशारा किस ओर था, यह उन्होंने साफ नहीं किया है।

एआइएमआइएम छोड़ राजद में शामिल हुए थे चार विधायक

पटना में मीडिया से बात करते हुए तेजप्रताप ने कहा कि कोचाधामन के विधायक मुहम्मद इजहार अस्फी, जोकीहाट के शाहनवाज आलम, बायसी के रुकनुद्दीन अहमद एवं बहादुरगंज के अनजार नईमी ने राजद की विचारधारा को पसंद किया है। सभी का पार्टी में स्वागत है। उन्होंने कहा कि कुछ बातें अभी गुप्त हैं। लालू ने छोटा खेला किया है। इंतजार करिए, अभी बड़ा काम होना बाकी है। हालांकि समस्तीपुर की हसनपुर विधानसभा के विधायक तेजप्रताप ने यह साफ नहीं किया है कि उनका इशारा किस ओर है।

विधानसभा में भाजपा के 77 तो जदयू के 45 एमएलए

तेजप्रताप पहले भी कई बार बिहार में बड़ा खेला होने की बात करते रहे हैं। बड़ी टूट के बाद अब बिहार में एआइएमआइएम के केवल एक विधायक ही रह गए हैं। अख्तरुल ईमान असदुद्दीन ओवैसी के साथ बने हुए हैं। बिहार विधानसभा में अब राजद के 80, भाजपा के 77, जदयू के 45, कांग्रेस के 19 हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के 04, एआइएमआइएम के 1, माले के 12, भाकपा के 2, माकपा के 2 के साथ 1 निर्दलीय विधायक हैं।

Edited By: Akshay Pandey