पटना [राज्य ब्यूरो]। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी बंगला देने के लिए उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार ने जो कानून बनाया था उसे रद करने के सुप्रीम कोर्ट के ताजा फैसले पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी की सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। इससे उम्मीद बंधती है कि उनके बेटे तेजस्वी यादव किसी विशेष सरकारी बंगले में जमे रहने की जिद छोड़कर नियम कानून का पालन करेंगे।

मोदी ने आज जारी एक ट्वीट में कहा कि समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल जैसी पार्टियों ने सत्ता को सेवा नहीं, संपदा संचय का साधन बनाया। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि कर्नाटक में सत्ता विरोधी लहर से सहमी कांग्रेस के इशारे पर पार्टी से निलंबित मणिशंकर अय्यर भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध देश के मतदाताओं के एक वर्ग को एकजुट करने की कोशिश में फिर पाकिस्तान पहुंच गए। आतंकियों की नर्सरी चलाने वाली भूमि से सावरकर की तुलना जिन्ना से करना स्वाधीनता सेनानियों का ऐसा अपमान है जिसके लिए अय्यर को माफी मांगनी चाहिए। 

मोदी ने अपने तीसरे टवीट में कहा कि एनडीए सरकार ने उज्जवला योजना के तहत 23 मार्च 2018 तक देश के जिन 3 करोड़ से ज्यादा गरीबों को मुफ्त गैस कनेक्शन दिये उनमें 44 फीसद लाभार्थी महिलाएं एससीएसटी परिवारों की हैं। उन्होंने कहा कि 2022 तक सभी गरीबों को मुफ्त गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य पूरा किया जाएगा। जिनसे दलितों की भलाई देखी नहीं जाती वह सरकार के खिलाफ उन्हें गुमराह करते हैं।

Posted By: Ravi Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस