राज्य ब्यूरो, पटना। पूर्व उप मुख्यमंत्री व राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को नीतीश सरकार व लालू प्रसाद यादव पर हमला किया। पटना के पीरबहोर थाने में पुलिस के साथ बदसलूकी के मामले में बयान जारी कर उन्होंने कहा कि डीएसपी की वर्दी फाड़ने वाला शख्स लालू प्रसाद के 'कबाब मंत्री' पूर्व एमएलसी अनवर अहमद का बेटा अशरफ अहमद था। उन्होंने कहा कि बिहार में अब जनता का नहीं, सत्तारूढ़ दल के बाहुबलियों का राज है। सुशील मोदी ने मामले में पूर्व एमएलसी अनवर अहमद की गिरफ्तारी की मांग की है। 

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजधानी के पीरबहोर थाने पर हमला कर अपराधी को छुड़ा ले जाने वाली भीड़ राजद समर्थकों की थी। अपराधियों के बचाव में थाना पहुंचकर डीएसपी की वर्दी फाड़ने वाला शख्स लालू प्रसाद के 'कबाब मंत्री' पूर्व एमएलसी अनवर अहमद का बेटा अशरफ अहमद था। उन्होंने कहा कि अनवर अहमद अपने दबंग बेटे को बचाने थाना पहुंचे थे और वहां उन्होंने पुलिस से गाली-गलौज की, धमकियां दीं। राजनीतिक दबाव में उन्हें थाने से ही बाइज्जत जाने दिया गया। ऐसे मामले में पूर्व एमएलसी अनवर की तुरंत गिरफ्तारी होनी चाहिए। 

अनवर पर हाथ डालने की हिम्मत सीएम नहीं कर सकते

सुशील मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद ने राज्यपाल कोटे से अनवर अहमद को एमएलसी बनवाया था। यही अनवर अहमद उस अवामी कोआपरेटिव बैंक के चेयरमैन थे, जिसने नोटबंदी के समय बेनामी खातों के जरिये 100 से ज्यादा लोगों के कालेधन को सफेद किया। मोदी ने कहा कि जिस अनवर अहमद ने लालू प्रसाद की अवैध जमीन खरीद-बिक्री के लिए फंडिंग की, उनपर पर हाथ डालने की हिम्मत नीतीश कुमार नहीं कर सकते। मोदी ने कहा कि अनवर अहमद के आर्थिक अपराधों के चलते उनके परिसरों पर आयकर और सीबीआइ के छापे पड़े। उनका एक बेटा जेल में है।  उन्होंने कहा कि बिहार में अब जनता का नहीं, सत्तारूढ़ दल के बाहुबलियों का राज है।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट