पटना, जेएनएन। Sushant Singh Rajput Case: बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत (Sushant Singh Rajput Death) के मामले में मुख्‍य आरोपित सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने फैसला दे दिया है। सुशांत की मौत की जांच सीबीआइ (CBI) करेगी, बुधवार को कोर्ट तय कर दिया। बिहार सरकार (Bihar Government) की सिफारिश के बाद केंद्र के आदेश पर सीबीआइ अपनी जांच पहले ही शुरू कर चुकी है। कोर्ट ने इस मामले में पटना में दर्ज एफआइआर को भी सही ठाहराया है। कोर्ट में महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government)  सीबीआइ जांच के खिलाफ थी तो रिया चक्रवर्ती बिहार सरकार की सिफारिश पर सीबीआइ जांच का विरोध कर रहीं थीं। इस हाई प्रोफाइल मामले पर सुशांत के अपने राज्‍य बिहार सहित पूरे देश के लोगाें की खास नजरें लगी हुईं थीं। सुशांत की मौत से लेकर अभी तक इस हाई प्रोफाइल मामले में कई मोड़ आए।

सुप्रीम कोर्ट ने दिया सीबीआइ जांच का आदेश

समाचार एजेंसी उउनआइ के अनुसार मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सुशांत के पिता द्वारा पटना में दर्ज एफआइआर सही थी। मामले की सीबीआइ जांच को सही ठहराते हुए कोर्ट ने कहा कि महाराष्‍ट्र सरकार ने इसे चुनौती देने के अधिकार का प्रयोग नहीं किया। कोर्ट ने सीबीआइ जांच का आदेश दे दिया।

13 अगस्‍त तक सभी पक्षों ने कोर्ट में दिया था जवाब

विदित हो कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में आरोपित उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की याचिका पर सुनवाई के दौरान बीते मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को 13 अगस्‍त तक जवाब देने के लिए कहा था। इस मामले में बिहार सरकार, सुशांत कि पिता केके सिंह, महाराष्‍ट्र सरकार तथा रिया च्रकवर्ती सहित सभी पक्षों ने अपने-अपने जवाब दाखिल कर दिए थे। इसी मामले में कोर्ट ने अपना फैसला दिया।

सभी पक्षों ने जवाब में क्‍या कहा, डालते हैं नजर

इस मामले में सीबीआइ ने अपने जवाब में जांच जारी रखने की अनुमति मांगी थी। सीबीआइ ने ईडी की जांच को भी जारी रखने की अनुमति देने का आग्रह किया था। बिहार सरकार का कहना था कि सीबीआइ जांच शुरू हो चुकी है, इसलिए रिया चक्रवर्ती की पटना में दर्ज एफआइआर को मुंबई ट्रांसफर कराने की मांग का कोई आधार नहीं है। सुशांत के पिता ने सीबीआइ जांच के पक्ष में अपना जवाब दाखिल किया था। उधर, महाराष्‍ट्र सरकार ने सीबीआइ जांच के विरोध में कहा था कि मुंबई पुलिस जांच में सक्षम है। रिया चक्रवर्ती पटना में दर्ज एफआइआर तथा बिहार सरकार की सिफारिश पर सीबीआइ जांच के विरोध में थीं।

सुप्रीम कोर्ट ने नहीं मानी रिया की बात

मामले में रिया चक्रवर्ती ने कहा था कि बिहार सरकार की सिफारिश पर हो रही सीबीआइ जांच गैर-कानूनी है। उनके अनुसार बिहार सरकार ने कार्यपालिका के अधिकारों का उल्लंघन किया है। उन्‍होंने पटना में दर्ज एफआइआर को राजनीतिक दबाव का परिणाम भी कहा था। इस आधार पर रिया ने सीबीआइ जांच का विरोध करते हुए पटना में दर्ज एफआअइआर को मुंबई ट्रांसफर कराने का आग्रह किया था। हां, वे कोर्ट की निगरानी में सीबीआइ जांच के लिए तैयार थीं। लेकिन कोर्ट ने उनकी बात नहीं मानी।

मामले की सीबीआइ जांच चाहता था सुशांत का परिवार

सुशांत की मौत के पीछे की साजिश को उजागर करने के लिए सीबीआइ जांच के पक्ष में आवाज उठती रही है। सुशांत कि पिता ने अब बेटे की मौत में हत्‍या की आशंका व्‍यक्‍त कर चुके हैं। सुशांत के भाई व भारतीय जनता पार्टी के विधायक नीरज बबलू कहते हैं कि इस मामले को दबाने की कोशिश तथा गवाहों को मिल रहीं धमकियों को देखते हुए सीबीआइ जांच जरूरी थी। साथ ही गवाहों को सुरक्षा भी दी जाए।

कोर्ट ने कहा- मामले में होगी सीबीआइ जांच

ज्ञात हाे कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में उनके पिता केके सिंह ने पटना में एफआइआर दर्ज करा रिया चक्रवर्ती पर कई गंभीर आरोप लगाए। फिर, रिया ने एफआइआर को मुंबई ट्रांसफर करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की। इस मामले की सभी पक्षों के जवाब दाखिल करने के बाद कोर्ट आज सीबीआइ जांच के पक्ष में फैसला दिया।

घटनाक्रम : कब क्या हुआ

25 फरवरी : सुशांत के पिता केके सिंह ने वीडियो जारी किया। बांद्रा पुलिस को आगाह किया था कि उनके बेटे की जान को खतरा है।

08 जून : सुशांत की पूर्व मैनेजर दिशा सालियान की मलाड स्थित अपार्टमेंट में 14वीं मंजिल से गिरकर मौत। पार्टी के बाद हुई घटना।

08 जून : आरोप है कि सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती सुशांत के घर से मेडिकल रिपोर्ट, गहने, क्रेडिट कार्ड सहित अन्य सामान लेकर चली गई। सुशांत का मोबाइल नंबर भी ब्लॉक कर दिया।

09 जून : सुशांत ने अपनी बहन को फोन कर बातचीत की। बहन सुशांत के पास गई। चार दिन साथ रहने के बाद वह वापस मुंबई स्थित अपने घर लौट आई।

14 जून : बांद्रा स्थित घर मे सुशांत सिंह की लाश मिली। घटनास्थल पर पहुंचने के कुछ देर बाद ही पुलिस ने इसे सुसाइड बताकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

15 जून : कंगना रनौत ने एक वीडियो जारी कर इसे आत्महत्या नहीं, बल्कि सुनियोजित हत्या बताया।

15 जून : मुंबई पुलिस ने दावा किया कि सुशांत के करीबी रहे नौ लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं।

18 जून : सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया को बांद्रा पुलिस स्टेशन बुलाया गया। करीब 9 घंटे तक पूछताछ की बात कही गई थी।

24 जून: सुशांत सिंह राजपूत की फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई। मुंबई के कूपर अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया था।

25 जुलाई : सुशांत के पिता केके सिंह पटना के राजीवनगर थाना पहुंचे। उन्होंने रिया चक्रवर्ती, उनके माता-पिता, भाई सहित छह लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई।

27 जुलाई : बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के निर्देश पर आईजी ने चार सदस्यीय टीम गठित की। मामले की जांच के लिए टीम फ्लाइट से मुंबई रवाना।

29 जुलाई : खुद के खिलाफ केस दर्ज होने के बाद रिया चक्रवर्ती सुप्रीम कोर्ट पहुंचीं। पटना में दर्ज मामले को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग की।

31 जुलाई : पटना पुलिस के अधिकारी बांद्रा डीसीपी (क्राइम) से मिलने पहुंचे। बाहर निकलते ही मुंबई पुलिस ने उन्हें कैदी वैन में बैठा दिया। सहयोग नहीं करने का आरोप।

01 अगस्त : मुंबई पुलिस सुशांत प्रकरण में कोई रिपोर्ट पटना पुलिस को नहीं दे रही थी। इसके बाद पटना पुलिस दिशा मामले में मलाड पुलिस स्टेशन पहुंची।

02 अगस्त : केस की जांच और टीम को लीड करने के लिए सिटी एसपी विनय तिवारी को पटना से मुंबई भेजा गया। वहां बीएमसी ने उन्हेंं उसी रात क्वारंटाइन कर दिया।

03 अगस्त : पटना के आईजी ने सिटी एसपी को क्वारंटाइन से मुक्त करने लिए बीएमसी को मेल और एक पत्र भेजा। लेकिन, बीएमसी ने मुक्त नहीं किया।

04 अगस्त: सुशांत सिंह मामले में बिहार सरकार ने सीबीआइ जांच की सिफारिश कर दी।

05 अगस्त : उच्चतम न्यायालय ने सुशांत सिंह मामले में रिया चक्रवर्ती द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई शुरू की।

06 अगस्त: सीबीआई ने दिल्ली में सुशांत सिंह मामले में प्राथमिकी दर्ज की। पटना में दर्ज केस का चार्ज लिया।

06 अगस्त : पटना पुलिस ने सीबीआई को सौंपे सुबूत। मुंबई गई बिहार पुलिस की टीम पटना लौट आई।

11 अगस्त: याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा। सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों से जवाब मांगा।

19 अगस्त: सुप्रीम कोर्ट ने मामले में सुनवाई करते हुए जांच सीबीआई को सौंप दी। अब सीबीआइ जांच करेगी।

यह भी देखें: सुशांत सिंह राजपूत मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला, CBI करेगी जांच

Edited By: Amit Alok