पटना मसौढ़ी। प्रखंड के राजकीय मध्य विद्यालय, नदौल में दो माह से पढ़ाई ठप रहने से आक्रोशित छात्रों ने सोमवार को विद्यालय के समीप पटना-गया सड़क (एनएच-83) जाम कर दिया। छात्र दो घटे तक सड़क पर विद्यालय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने छात्रों को समझाकर शात कराया। जाम के कारण गाड़ियों की कतार लग गई।

630 छात्र विद्यालय में हैं नामांकित

राजकीय मध्य विद्यालय, नदौल में 636 छात्र नामांकित हैं। इनमें से औसतन 250 छात्र हर दिन विद्यालय आते हैं। विद्यालय के चार कमरे में ही कक्षा-1 से आठवीं तक की पढ़ाई होती है। विद्यालय में प्राचार्य समेत कुल 20 शिक्षक हैं। इनमें से 13 महिला शिक्षिकाओं में से छह की प्रतिनियुक्ति दूसरे विद्यालयों में कर दी गई है। प्रदर्शन कर रहे छात्र दिनेश कुमार, सुजय कुमार, बंटी कुमार, राहुल कुमार, पिंटू कुमार, मोनू कुमार, विकास कुमार, मनोज कुमार आदि ने बताया कि दो माह पूर्व वरीय शिक्षक नागेंद्र प्रसाद को विद्यालय के प्राचार्य का प्रभार वर्तमान प्राचार्य अनिल कुमार से लेना था। लेकिन उन्होंने अस्वस्थ रहने की बात कहते हुए प्रभार लेने से मना कर दिया था। इसके बाद से दोनों के बीच मतभेद चल रहा है। छात्रों ने कहा कि महिला शिक्षिकाएं केवल उपस्थिति दर्जकर ट्रेन पकड़कर चली जाती हैं। विद्यालय में मिड डे मिल भी अक्सर बंद रहता है।

विद्यालय के वर्तमान प्राचार्य अनिल कुमार ने बताया कि वरीय शिक्षक नागेंद्र प्रसाद के प्रभार नहीं लेने की जानकारी उन्होंने वरीय अधिकारियों को दे दी है। वहीं शिक्षक नागेंद्र प्रसाद ने बताया कि मैं अभी अस्वस्थ होने के कारण प्रभार लेने में असमर्थ हूं। इसकी जानकारी वरीय अधिकारियों को दे दी है।

जर्जर हो गया है भवन, हादसे की बनी रहती है आशंका

छात्रों का यह भी आरोप था कि विद्यालय का भवन जर्जर स्थिति में है और हमेशा भवन के गिरने व कोई बडा हादसा होने की आशका बनी रहती है। इस संबंध में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी रंजन कुमार से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने कॉल अटेंड नहीं किया।

शिक्षिकाओं ने प्रभारी प्राचार्य से छीन ली थी गेट की चाबी

विद्यालय का हाल यह है कि प्राचार्य अनिल कुमार वरीय शिक्षक नागेंद्र प्रसाद को प्रभार देकर बीते 15-16 नवंबर को छुट्टी पर चले गए थे। इसके बाद बाद नागेंद्र प्रसाद ने विद्यालय में अनुशासन कायम करने और शिक्षकों का विद्यालय बंद होने तक शिक्षिकाओं का परिसर में ही मौजूद रहने को लेकर विद्यालय के गेट मे ताला जड़ दिया था। आरोप है कि शिक्षिकाओं ने इसका विरोध करते हुए नागेंद्र प्रसाद से गेट की चाबी छीन ली थी। इसे लेकर भी विद्यालय में विवाद बढ़ गया था। मामले की जानकारी मिली है। यदि प्रभार को लेकर विवाद है तो इसकी जांच कराई जाएगी। उपस्थिति दर्ज कराने के बाद गायब रहने वालीं शिक्षिकाओं से भी कारण पूछा जाएगा।

ज्योति कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी, पटना

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप