पटना सिटी : सुल्तानगंज थाना अंतर्गत ला कालेज घाट पर शुक्रवार की सुबह गंगा में नहाने के दौरान राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) पटना के एक छात्र की डूबने से मौत हो गई। आंध्र प्रदेश निवासी छात्र के शव को गोताखोरों ने काफी मशक्कत के बाद गंगा से निकाला। शव को पोस्टमार्टम के लिए पटना मेडिकल कालेज अस्पताल भेजा गया। कालेज प्रशासन एवं पुलिस छात्र के स्वजन का पटना पहुंचने का इंतजार कर रहा है।

एनआइटी पटना के सहायक रजिस्ट्रार जेपी शर्मा ने बताया कि आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिला स्थित पामुर गांव निवासी 22 वर्षीय गायकवाडा मणिकंटा इलेक्ट्रानिक एंड कम्यूनिकेशन का द्वितीय वर्ष का छात्र था। वह कालेज के ब्रह्मपुत्रा हास्टल के कमरा संख्या 833 में रहता था। पढ़ने में काफी अच्छा था। उसके पिता गायकवाडा शंकर का पूर्व में निधन हो चुका है। घर में केवल मां हैं। छात्र का शव लेने के लिए उसका चचेरा भाई पटना पहुंच रहा है।

वहीं, अपर थानाध्यक्ष दिनेश कुमार ने बताया कि एनआइटी छात्र मणिकंटा चार दोस्तों के साथ सुबह में नहाने के लिए ला कालेज घाट पहुंचा था। नहाने के दौरान वह डूबने लगा तो दोस्तों ने उसे बचाने का प्रयास किया, लेकिन छात्र पानी में डूब गया। अपर थानाध्यक्ष ने बताया कि गोताखोर राजेंद्र सहनी और उसकी टीम के सदस्य संदीप सहनी, मनीष सहनी ने छात्र की गंगा में तलाश की। अपर थानाध्यक्ष ने बताया कि एनआइटी हास्टल में रहने वाला छात्र हास्टल के रजिस्टर में कुछ सामान खरीदने की बात लिख कर बाहर निकला था।

- इलेक्ट्रानिक एंड कम्युनिकेशन के द्वितीय वर्ष का छात्र था आंध्र प्रदेश निवासी गायकवाडा मणिकंटा

- दोस्तों के साथ ला कालेज घाट गया था नहाने, ब्रह्मपुत्रा हास्टल के कमरा संख्या 833 में रहता था

जागरण संवाददाता

Edited By: Jagran