राज्य ब्यूरो, पटना : स्मार्ट प्री पेड मीटर के उपभोक्ताओं को अभी यह ब्यौरा हासिल करने को लिए इंतजार करना होगा कि उन्होंने जिस राशि से अपने मीटर को रिचार्ज किया, वह किस-किस से मद में काटी गई। बिजली कंपनी के सीएमडी के साथ लगभग माह भर पहले इस बाबत स्मार्ट प्री पेड मीटर का काम देखने वाली कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई थी। तय हुआ था कि अब उपभोक्ताओं को उनकी रिचार्ज की राशि का पूरा विवरण मिलेगा। माह भर के अंदर इस काम को पूरा किए जाने पर सहमति थी। पर अब यह कहा जा रहा कि इस संबंध में स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाने व संचालित करने वाली कंपनी फिर से बिजली कंपनी के साथ करार करेगी। इसके बाद ही यह संभव हो पाएगा। पूर्व में बिजली कंपनी के साथ जो करार किया गया था, उसमें यह शर्त नहीं थी।

लगातार मिलने वाली शिकायत पर बननी है व्यवस्था

बिहार में स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाने के काम में बड़ी हिस्सेदारी केंद्र सरकार की ईईएसएल की है। स्मार्ट प्री पेड मीटर के संचालन का जिम्मा भी उसी के पास है। वहीं बिजली कंपनी के पास अपना एक टोल फ्री नंबर है जिस पर स्मार्ट प्री पेड मीटर से जुड़ी शिकायतें आती हैं। उपभोक्ताओं की शिकायत आम तौर पर यह है कि उनकी मोटी राशि काट ली जाती है। उतनी वह बिजली का उपभोग नहीं करते। इस संबंध में बिजली कंपनी के सीएमडी ने ऊर्जा मंत्रालय को पत्र लिखा था। इसके बाद ईईएसएल की टीम की बिजली कंपनी के आला अधिकारियों के साथ बैठक हुई थी। यह तय हुआ था कि स्मार्ट प्री पेड मीटर के उपभोक्ताओं को अब यह पूरा ब्यौरा मिलेगा कि उन्होंने जिस राशि से रिचार्ज किया, उसकी कटौती किस-किस मद में हुई।

अभी आइटी टीम के साथ चल रहा मंथन

स्मार्ट प्री पेड की देखरेख करने वाली कंपनी के संबंध में बिजली कंपनी से मिली आधिकारिक जानकारी के अनुसार अभी आइटी टीम के साथ वह यह मंथन कर रही कि इस नए प्रोग्राम को किस तरह से जोड़ा जाए। आइटी टीम के परामर्श पर इस विषय को करार में जोड़ा जाएगा।

वेलकम मैसेज में हो रहा सुधार

बिजली कंपनी के आला अधिकारी ने स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाने वाली कंपनी को उपभोक्ताओं की इस शिकायत के बारे में भी लिखा था कि स्मार्ट प्री पेड मीटर लगने पर उसका जो वेलकम मैसेज उपभोक्ता के निबंधित मोबाइल पर आना है, उसमें एक-एक महीने की देरी हो जा रही। इस शिकायत पर काम शुरू किया गया है। अब लगभग 85 प्रतिशत मामले में 48 घंटे के अंदर वेलकम मैसेज आ रहा है।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट