पटना सिटी : सावन पूर्णिमा पर गुरुवार को शिवालयों में शिवभक्तों ने पूजा-अर्चना किया। शाम के समय ट्रांसपोर्ट नगर स्थित ओंकारनाथ मंदिर, झाऊगंज स्थित पीतल का महादेव, गौरीशंकर मंदिर गायघाट, लंगूर गली स्थित कामदेश्वर महादेव मंदिर, मलिया महादेव मंदिर, पीतांबरा मंदिर, खाजेकलां थाना परिसर स्थित शिव मंदिर, पथरी घाट स्थित अलखिया बाबा के मंदिर, मठ लक्ष्मणपुर स्थित शिव मंदिर, महेन्द्रू रिक्शा पड़ाव स्थित शिव मंदिर, शनिचरा अखाड़ा शिव मंदिर, श्री गुरुगोविंद सिंह पथ के तिलेश्वर मंदिर, हरिमंदिर गली में ऐतिहासिक शिवालय, घसियारी गली स्थित मुक्तेश्वरनाथ शिव मंदिर, बजरंगपुरी स्थित शिव मंदिर तथा सिमली पर स्थित छोटी शिव मंदिर में पूजा अर्चना व श्रृंगार दर्शन के साथ भजन-कीर्तन हुआ।

-गंगा घाट पर विशेष पूजा अर्चना

श्रावणी पूर्णिमा के मौके पर भद्रघाट, चित्रगुप्त घाट, नौजर कटरा, खाजेकलां घाट तथा श्री गुरु गोविंद सिंह घाट पर विशेष पूजा-अर्चना की गई। इन घाटों पर काफी संख्या में श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान किया एवं पूजा-अर्चना की। उपस्थित श्रद्धालुओं ने गंगा को स्वच्छ रखने तथा प्रदूषित न करने की लोगों से अपील किया।

जैन मंदिर में पूजा अर्चना

बेगमपुर स्थित श्री दादाबाड़ी जैन मंदिर में पूर्णिमा के मौके पर जैनियों ने दादा गुरुदेव की पूजा अर्चना की। नवकार मंत्र से प्रारंभ हुए कार्यक्रम के बाद पुजारी की देखरेख में बड़ी पूजा व भजनों की प्रस्तुति से वातावरण भक्तिमय हो गया। अंत में मंगल आरती से दादा गुरु को श्रद्धालुओं ने श्रद्धा निवेदित की। इस मौके पर प्रदीप जैन, पारसचंद बैद, राजेश चौरड़िया, दिलीप जैन, जयंती मेहता, सुखराज जैन, प्रो. राधाकांत, गणेश सिपानी समेत अन्य थे। इस मौके पर अक्षरधाम के संस्थापक स्वामी नारायण के प्रमुख स्वामी के निधन पर दादाबाड़ी परिवार की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

मां गंगा की महाआरती

गांगेय के बैनर तले नजर घाट स्थित चित्रगुप्त मंदिर प्रांगण में भक्तों ने मां गंगा की महाआरती की। गंगा तथा घाट की स्वच्छता को लेकर जन जागरूकता अभियान भी चलाया गया। मौके पर डॉ. गीता कुमारी, शारदा, सुनीता, मुन्नी, लालती तथा सुनैना देवी, प्रमोद सिंहा समेत अन्य ने सक्रिय भागीदारी निभाई।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप