पटना । बांकीपुर अंचल में डोर-टू-डोर कूड़ा उठाव एजेंसी व दुकानों के बीच सोमवार को हुई घटना ने मंगलवार को बड़ा रूप ले लिया। मंगलवार को नाला रोड के दुकानदारों ने दुकानों को बंद कर प्रदर्शन किया। इस दौरान काफी देर तक मार्ग भी बाधित रहा। रामकृष्ण एवेन्यू व्यवसायी संघ नाला रोड के अध्यक्ष शैलेश कुमार मेहता ने बताया कि डोर-टू-डोर कूड़ा उठाव एजेंसी के 25-30 लोग सोमवार को राशि लेने पहुंचे थे। सौ से लेकर पांच हजार रुपये तक की डिमांड की। कुछ लोगों ने दिए भी। लेकिन कई दुकानदारों ने कहा कि नगर निगम को टैक्स दिया जाता है तो यह राशि किस बात की ली जा रही है। परिचय पत्र की भी मांग की, लेकिन एजेंसी के लोगों ने नहीं दिया। जबकि दुकानों से हर दिन कचरा भी नहीं उठाया जाता है, ऐसे में दुकानदार क्यों राशि दें। इसके बाद एजेंसी के लोग गाली-गलौज करते हुए हाथापाई करने लगे। इसके विरोध में दुकानदारों ने 12 बजे से दोपहर 02 बजे तक दुकानें बंद रखीं। इधर, निगम की ओर से डोर-टू-डोर कूड़ा उठाव के लिए आवंटित एजेंसी निश्का के प्रतिनिधि संजय कुमार ने बताया कि दुकानदारों का आरोप बेबुनियाद है। हमारे सुपरवाइजर राशि लेने गए तो दुकानदारों ने दु‌र्व्यवहार किया। मामले को लेकर अपर नगर आयुक्त विशाल आनंद ने बताया कि डोर-टू-डोर कूड़ा उठाव की दर निर्धारित है। यह राशि सभी घरों व दुकानों से ली जानी है। राशि वसूली के लिए किसी के साथ ज्यादती करना गलत है। अगर ऐसा होगा तो निगम मामले को देखेगा। इस दौरान शांतिपूर्ण धरना भी दिया गया। मौके पर मनोज कुमार जैन, अजय कुमार गुप्ता, अंजय कुमार, विवेकानंद आदि भी थे।

Posted By: Jagran