Move to Jagran APP

Bihar Education: इन अफसरों को हर हाल में करना होगा शिक्षकों का ये काम, नहीं तो कट जाएगा वेतन; आ गया ऊपर से आदेश

बिहार सरकार को अफसरों को ऊपर से बड़ा निर्देश मिल गया है। उन्हें हर हाल में शिक्षकों के लिए एक बेहद खास काम करना होगा। अगर अधिकारी वह काम समय पर पूरा नहीं करते हैं तो उनका वेतन भी रोक दिया जाएगा। बता दें कि इन दिनों शिक्षा विभाग की बैठक चल रही है। जिसमें विश्वविद्यालय से संबंधित कई तरह के फैसले लिए जा रहे हैं।

By Dina Nath Sahani Edited By: Mukul Kumar Wed, 10 Jul 2024 08:25 PM (IST)
प्रस्तुति के लिए इस्तेमाल की गई तस्वीर

राज्य ब्यूरो, पटना। Bihar Education News राज्य के विश्वविद्यालयों में वर्ष 2005 के बाद नियुक्त शिक्षकों और कर्मचारियों का प्रान (परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट) नंबर जेनरेट करना होगा। ऐसा नहीं करने और न्यू पेंशन स्कीम का खाता नहीं खोलने पर विश्वविद्यालयों के संबंधित अधिकारियों का वेतन बंद होगा।

बुधवार को शिक्षा विभाग ने विश्वविद्यालयों के वर्ष 2024-25 के प्रस्तावित बजट की समीक्षा के दौरान यह आदेश दिया। शिक्षा विभाग की ओर से निर्धारित शिड्यूल के तहत विकास भवन के डा.मदन मोहन झा स्मृति सभागार में विश्वविद्यालयों के बजट की समीक्षा शुरू हुई। यह बैठक 19 जुलाई तक चलेगी।

इस बैठक में शिक्षा विभाग एवं विश्वविद्यालयों के संबंधित अधिकारियों के साथ ही वित्त विभाग के अधिकारी भी शामिल हुए। पहले दिन कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के प्रस्तावित बजट की समीक्षा हुई। इसके बाद मौलाना मजहरुल हक अरबी-फारसी विश्वविद्यालय के बजट की समीक्षा की गई।

कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय ने वेतन मद में 70 करोड़ एवं पेंशन मद में 83 करोड़ रुपये मांगा है। जबकि बकाये वेतन के मद में 138 करोड़ की मांग की गई है। इस पर सैद्धांतिक सहमति दे दी गयी है।

वेतन सत्यापन कराना किया गया अनिवार्य

बैठक में शिक्षा विभाग (Bihar Education Department) ने विश्वविद्यालयों के अधिकारियों को आगाह किया कि जिन शिक्षकों और कर्मचारियों ने वेतन सत्यापित नहीं कराया है उन्हें वेतन सत्यापन कोषांग से वेतन सत्यापित करा लें, अन्यथा आने वाले दिनों में उनके वेतन पर रोक लगेगी।

बैठक में शिक्षक एवं कर्मियों के स्वीकृत, कार्यरत एवं रिक्त पद, पिछले वर्ष के स्वीकृत बजट, प्राप्त राशि एवं व्यय राशि, इस अवधि में सेवानिवृत्त शिक्षकों व कर्मियों की संख्या, नई नियुक्तियां तथा कॉलेजों के आंतरिक स्त्रोत से प्राप्त राशि के व्यय की समीक्षा की गई।

बकाये का भुगतान की प्रगति की भी समीक्षा हुई। गुरुवार को पूर्णिया विश्वविद्यालय एवं मुंगेर विश्वविद्यालय के बजट पर समीक्षा बैठक होगी।

यह भी पढ़ें-

Bihar Teacher News: बिहार में पहली बार सरकारी शिक्षकों के लिए बड़ा बदलाव, एक लापरवाही और कट जाएगी सैलरी

Bihar Niyojit Teacher: नियोजित शिक्षकों को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, कहा- नौकरी छोड़िए या सक्षमता परीक्षा दीजिए