पटना, आनलाइन डेस्‍क। पटना में राबड़ी देवी के आवास समेत दिल्‍ली में मीसा भारती व अन्‍य रिश्‍तेदारों के आवास पर चल रही सीबीआई की छापेमारी के विरोध में राजद कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए हैं। पटना में 10 सर्कुलर रोड, राबड़ी आवास के बाहर बड़ी संख्‍या में कार्यकर्ता धरना पर बैठ गए। वे सीबीआई वापस जाओ के नारे लगा रहे थे। उनका कहना था कि लालू प्रसाद को परेशान करने के लिए राजनीति से प्रेरित होकर यह कार्रवाई कराई जा रही है। प्रदर्शन में राजद के कई विधायक व नेता भी शामिल था। 

सीबीआइ वापस जाओ के लगाए जा रहे नारे 

छापेमारी की सूचना मिलते ही समर्थकों का जमावड़ा राबड़ी देवी के आवास के बाहर होने लगा। देखते ही देखते बड़ी संख्‍या में कार्यकर्ता वहां पहुंच गए। वे हाथों में बैनर-पोस्‍टर लेकर नारेबाजी कर रहे हैं। प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं का आरोप है कि केंद्र सरकार सीबीआइ का दुरुपयोग कर रही है। भाजपा के इशारे पर सीबीआइ ने यह कदम उठाया है। यह सब जातीय जनगणना के लिए सीएम नीतीश कुमार और तेजस्‍वी के साथ आने की बौखलाहट में किया जा रहा है। विधायक डा. मुकेश रौशन, आलोक मेहता, शक्ति सिंह यादव, पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम, आभा लता,  आदि इस कार्रवाई का विरोध कर रहे थे। राजद नेताओं का कहना था कि छापेमारी का समय भी ऐसा चुना गया है जब परिवार में न तेजस्‍वी मौजूद हैं और न लालू प्रसाद। यह सब साजिश है। 

मालूम हो कि डोरंडा ट्रेजरी से अवैध निकासी मामले में कुछ दिनों पहले ही लालू प्रसाद यादव को जमानत मिली है। इसके बाद वे स्‍वास्‍थ्‍य कारणों से दिल्‍ली में अपनी पुत्री राज्‍यसभा सांसद डा. मीसा भारती के आवास पर रह रहे हैं। डाक्‍टर की सलाह के बाद वे पटना आने वाले थे। इस बीच यह कार्रवाई हुई है। तेजस्‍वी यादव पत्‍नी के साथ फिलहाल लंदन में एक कार्यक्रम में शामिल होने गए हैं। पटना आवास पर राबड़ी देवी और तेज प्रताप यादव हैं। 

Edited By: Vyas Chandra