पटना, जेएनएन। कोरोना (CoronaVirus) संक्रमण के संकट काल के दौरान पटना में न केवल लॉकडाउन (Lockdown) की धज्जियां उड़ीं, बल्कि फिजिकल डिस्‍टेंसिंग (Physical Distancing) भी हवा होती दिखी। यह सब बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में नेता प्रतिपक्ष (Leader of Opposition) तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) की प्रस्‍तावित गोपालगंज यात्रा को आरंभ करने की कोशिश के दौरान उनकी मौजूदगी में हुआ। मौके पर मौजूद पुलिस बैकफुट पर दिखी। हालांकि, पुलिस ने घटना की एफआइआर (FIR) दर्ज कर कार्रवाई की बात कही है।

तिहरे हत्‍याकांड में जेडीयू विधायक की गिरफ्तारी की मांग

विदित हो कि बीते रविवार को गोपालगंज में एक आरजेडी नेता के परिवार के तीन सदस्‍यों की उनके घर पर हत्‍या (Gopalganj Triple Murder) कर दी गई। वारदात में आरजेडी नेता भी घायल हुए, जिनके बयान पर कुचायकोट के जनता दल यूनाइटेड (JDU) विधायक (MLA) अमरेंद्र पांडेय (Amrendra Pandey) उर्फ पप्‍पू पांडेय (Pappu pandey) के खिलाफ हत्‍या की एफआइआर दर्ज की गई है। आरजेडी ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर आरोपित विधायक को बचाने का आरोप लगाते हुए उनकी गिरफ्तारी की मांग की ऐसा नहीं होने पर शुक्रवार की सुबह गोपालगंज मार्च पर निकलने की घोषणा की। शुक्रवार को तेजस्‍वी अपने विधायकों के साथ पटना से निकल ही रहे थे कि पुलिस ने उन्‍हें रोक दिया। इस दौरान लॉकडाउन व फिजिकल डिस्‍टेंसिंग की अवहेलना होती रही।

राबड़ी-तेजस्‍वी आवास के सामने जुटे नेता-कार्यकर्ता

शुक्रवार की सुबह से ही पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव के सरकारी आवास के समाने बड़ी संख्‍या में आरजेडी समर्थक जमा होने लगे थे। इस बीच वहां पुलिस की भी तैनाती की गई। धीरे-धीरे वहां आरजेडी के बड़ी संख्या में विधायक और अन्‍य बड़े नेता भी जुटे। वहां उनके अंगरक्षक भी मौजूद थे।

फिजिकल डिस्‍टेंसिंग के नियम की उड़ गईं धज्जियां

जैसे ही राबड़ी आवास से तेजस्‍वी यादव, राबड़ी देवी व तेज प्रताप यादव के वाहन निकले, भीड़ ने उन्‍हें घेर लिया। जिंदाबाद के नारों के बीच सभी अपने नेताओं के समाने जाने के लिए बेताब हो गए। इस दौरान फिजिकल डिस्‍टेंसिंग के नियम की धज्जियां उड़ गईं। भीड़ में अनेक लोग बिना मास्‍क के भी दिखे। भीड़ ने पुलिस की बैरिकेडिंग को भी गिरा दिया।

लॉकडाउन गाइडलाइन को ले पुलिस भी रही लापरवाह

आरजेडी नेताओं के अलावा से लेकर पुलिस-प्रशासन को भी लॉकडाउन के गाइडलाइन को लेकर लापरवाह देखा गया। पुलिसकर्मी भी हाथ से हाथ जोड़कर रास्ता रोकती दिखी।

बैकफुट पर दिखी पुलिस, लोगों में मिली-जुली प्रतिक्रिया

मौके पर मौजूद पुलिसकर्मी गोपालगंज मार्च की अनुमति नहीं मिलने का हवाला देते हुए नेताओं को समझाते दिखे, लेकिन लॉकडाउन के पालन को लेकर उदासीन रहे। पुलिस के इस तरह बैकफुट पर रहने को लेकर पटना के आम लोगों में मिली-जुली प्रतिक्रिया है। कुछ लोगों ने इसे उस वक्‍त की जरूरत बताया तो कुछ ने कहा कि लॉकडाउन में आम लोगों के बाहर निकलने पर उठक-बैठक कराने व डंडे मारने वाली पुलिस को आज क्‍या हो गया था?

आरजेडी नेताओं के खिलाफ दर्ज होगी एफआइआर

इस बाबत मौके पर मौजूद पटना के सिटी एसपी विनय कुमार ने कहा कि फिलहाल पुलिस मार्च को रोकने में लगी थी। आगे विधिसम्‍मत कार्रवाई भी होगी। स्‍पष्‍ट है कि लॉकडाउन के उल्‍लंघन को लेकर तेजस्वी यादव, राबड़ी देवी व तेज प्रताप यादव सहित अन्‍य आरजेडी नेताओं के खिलाफ एफआइआर दर्ज किया जाना तय है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस