पटना [जागरण टीम]। Patna Weather Update: बिहार में 60 घंटे की लगताार आफत की बारिश के बाद अब राहत के आसार हैं। राज्‍य में फिलहाल बारिश का खतरा टल गया है। पटना सहित कई जगहों पर मौसम साफ होता दिख रहा है। इस बीच पहले की बारिश के कारण जलमग्न इलाकों (Waterlogged Areas) में राहत व बचाव कार्य तेज हो गए हैं। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने एरियल सर्वे (Aerial Survey) किया तथा इसके बाद स्थिति की समीक्षा कर आवश्‍यक निर्देश दिए। वायुसेना (Air Force) के दो हेलीकॉप्‍टर फूड पैकेट्स (Food Packets)  गिरा रहे हैं। जल-जमाव ने पटना में करोड़ों की क्षति पहुंचाई है। बेली रोड के एक बड़े हिस्से के साथ-साथ कई सड़कों को भी नुकसान पहुंचा है।

भारी बारिश के कारण राजेंद्र नगर स्थित अपने निजी घर में परिवार के साथ फंसे उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) काे एनडीआरएफ (NDRF) की टीम ने वहां से निकाला। उधर, लोक गायिका शारदा सिन्‍हा (Sharda Sinha)  को भी उनके राजेंद्र नगर (Rahendra Nagar) स्थित घर से एनडीआरएफ की टीम ने बाहर निकाला।

 

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने किया एरियल सर्वे

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सोमवार को पटना व आसपास के प्रभावित इलाकों का एरियल सर्वे किया। इसके बाद वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर प्रभावित जिलों के डीएम से रिपोर्ट ले रहे हैं।

राहत-बचाव में लगे वायुसेना के हेलीकॉप्‍टर

पानी-पानी पटना के प्रभावित इलाकों में वायुसेना के दो हेलीकॉप्‍टर राहत व बचाव में लगाए गए हैं। उनके माध्‍यम से अति प्रभावित राजेंद्र नगर आदि इलाकों में फंसे लोगों को फूड पैकेट्स उपलब्‍ध कराए जा रहे हैं।

जगह-जगह जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित

विदित हो कि भारी बारिश के कारण पटना सहित बिहार में जगह-जगह जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। सड़क व रेल यातायात भी प्रभावित हुए हैं। पूरे बिहार में अब तक बाढ़ और बारिश के कारण 29 लोगों की जानें चलीं गईं हैं। उधर, गंगा समेत सभी छोटी-बड़ी नदियां उफान पर हैं। हालांकि, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने बताया कि फरक्‍का बराज (Farakka Barage) के सभी फाटक खोल दिए गए हैं, जिससे अब गंगा (Ganges) का जल स्‍तर घटन की उम्‍मीद है।

पटना में याद आई 1975 की बाढ़

पटना में करीब 45 साल बाद ऐसा जल-जमाव देखने को मिला है। इसने 1975 की बाढ़ (Flood of 1975) की याद दिला दी है, जब पटना डूब गया था। सड़काें पर नाव चल रही है और लोग घरों के घरों तथा अस्‍पतालों तक में पानी घुस गया है।

पटना के राजेंद्र नगर (Rajehdra Nagar), कंकड़बाग (Kankar Bagh), लंगर टोली (Langar Toli), बहादुरपुर (Bahadurpur), गर्दनीबाग (Gardanibagh), सरिस्ताबाद (Saristabad), चांदमारी रोड (Chandmari Road), पोस्टल पार्क (Postal Park), इंदिरा नगर (Indira Nagar), संजय नगर (Sanjay Nagar), अशोक नगर (Ashok Nagar), बोरिंग रोड (Boring Road), पाटलिपुत्र कॉलोनी (Patluputra Coliny) , श्रीकृष्णापुरी (Srikrishnapuri), राजीव नगर (Rajiv Nagar), रामकृष्णा नगर (Ramkrishna Nagar), संदलपुर (Sandalpur) आदि इलाकों में जगह-जगह जल-जमाव हो गया है। हालत यह हो गई है कि कई जगह जिला प्रशासन की ओर से नौका परिचालन किया जा रहा है। पटना में कुछ इलाकों में यातायात पूरी तरह से ठप है। नगर के प्रभावित इलाकों में घंटों से बिजली आपूर्ति नहीं की जा रही है।

मंत्रियों के घरों में भी घुसा पानी

पटना में रहने वाले मंत्रियों के घरों में भी पानी घुस गया है। राजेंद्र नगर स्थित राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और नागेश्वर कॉलोनी स्थित बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के घरों में बारिश का पानी घुस गया है। नेताजी मार्ग स्थित नंदकिशोर यादव, मंत्री प्रेम कुमार आदि के सरकारी आवास भी पानी में डूबे हैं। शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा, विधान परिषद के कार्यकारी सभापति हारुण रशीद तथा परिवहन मंत्री संतोष निराला के घर में भी पानी है। नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा, जिनपर नगर की साफ-सफाई, जन-निकासी और विकास की जिम्मेदारी है, के घर में भी पानी घुस गया है।

बेली रोड-सर्कुलर रोड जंक्शन के समीप सड़क ध्वस्त

बारिश ने राजधानी स्थित बेली रोड के एक बड़े हिस्से को जबर्दस्त नुकसान पहुंचाया है। सर्कुलर रोड की ओर जाने वाली सड़क बुरी तरह ध्वस्त हो गई है। वाहनों का रूट भी निर्माणाधीन लोहिया पथ चक्र की वजह से डायवर्ट कर दिया गया है। पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा ने बताया कि बारिश बंद होने के तुरंत बाद सड़क के इस हिस्से को दुरुस्त कर लिया जाएगा।

पथ निर्माण विभाग से मिली जानकारी के अनुसार लोहिया पथ चक्र के निर्माण के दौरान भी बेली रोड पर वाहनों का परिचालन बाधित नहीं हो इस बात को ध्यान में रख अस्थाई तौर पर पीसीसी सड़क बनी है कुछ हिस्से में पीचिंग की गई थी। बारिश में यह पीचिंग ध्वस्त हो गई है। सर्कुलर रोड जंक्शन के आगे हिस्से में काम चल रहा है, इसलिए सचिवालय से बीपीएससी होते हुए आगे जानेवाली ट्रैफिक को राजभवन के रास्ते बेली रोड भेजा जा रहा है।

उपमुख्‍यमंत्री को किया रेस्‍क्‍यू

बारिश थमने के बाद राजेंद्र नगर स्थित अपने निजी घर में फंसे उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी को एनडीआरएफ (NDRF) की टीम ने नाव पर बैठा कर किनारे छोड़ा। इसके बाद वे अपने सरकारी आवास गए।

चिकित्सा व्यवस्था पर पड़ा असर

जल-जमाव के कारण पटना में चिकित्सा व्यवस्था पर असर पड़ा है। पटना मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल (पीएमसीएच) में पानी भर गया है। यही हाल पटना के दूसरे बड़े अस्‍पताल नालंदा मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल (एनएमसीएच) का भी है। मरीजों का इलाज उसी हालत में हो रहा है। इस कारण अस्‍पतालों में डॉक्‍टरों व अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों के मरीजों तक पहुंचने में भी परेशानी हो रही है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप