पटना [जेएनएन]। नए संशोधित माेटर वाहन अधिनियम (Motor Vehicles Act) के प्रभाव में आने के बाद बिहार में बड़े पैमाने पर वाहनों की जांच कर ट्रैफिक नियमों को तोडने पर भारी जुर्माना किया जा रहा है। इस बीच, परिवहन विभाग (Transport Department) ने बयान जारी कर कहा है कि बिहार में केवल 38 फीसद लोग ही हेलमेट पहनते हैं, जिसे बढ़ाने की जरूरत है। परिवहन विभाग के इस फैसले को नए मोटर वाहन अधिनियम से जोड़कर देखा जा रहा है।
परिवहन विभाग ने कहा है कि बिहार में केवल 38 फीसद लोग ही हेलमेट पहनते हैं। राज्‍य में हेलमेट पहनने वालों के इस फीसद को जल्‍द बढ़ाना जरूरी है। इसलिए इस सप्ताह हेलमेट चेकिंग का विशेष अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान में पुलिसकर्मियों की भी जांच होगी।

परिवहन विभाग ने प्रदूषण जांच केंद्रों पर लग रही वाहनों की लंबी कतार को देखते हुए सभी प्रखंडों में प्रदूषण जांच केंद्र खोलने का भी फैसला लिया है। इसके तहत छह महीने के भीतर 150 से अधिक प्रदूषण जांच केंद्र खोले जाने हैं। नए मोटर वाहन अधिनियम के तहत वाहनों की जांच में तेजी आने के बाद प्रदूषण जांच प्रमाण पत्र बनाने के लिए लंबी कतारें लग रहीं हैं। इसे देखते हुए परिवहन विभाग ने यह फैसला किया है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस