जागरण संवाददाता, पटना। Railway News: रेलवे की ओर से तमाम जागरुकता अभियान और सख्‍ती के बावजूद ट्रेनों में बिना टिकट सफर करने वालों की आदत नहीं छूट रही है। पूर्व मध्‍य रेलवे के दानापुर मंडल में बिना टिकट यात्रा पर रोकथाम के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में गुरुवार को योजनाबद्ध तरीके से विशेष टिकट जांच अभियान दानापुर मंडल के पटना जंक्शन पर चलाया गया।

मजिस्‍ट्रेट चेकिंग में 1288 यात्रियों पर लगा जुर्माना

अभियान का नेतृत्व दानापुर मंडल के वरीय मंडल वाणिज्य अधिकारी सरस्वती चंद्र के नेतृत्व में तथा रेलवे मजिस्ट्रेट अनुराग मिश्र की उपस्थिति में चलाई गई थी। विशेष टिकट जांच अभियान में बिना टिकट/उचित प्राधिकार के यात्रा करते हुए 1288 यात्री पकड़े गए जिनसे जुर्माना एवं किराए के रूप में 5.47 लाख रुपये वसूले गए।

किउल स्‍टेशन पर भी चला सघन टिकट जांच अभियान 

वहीं दूसरी ओर, आपरेशन उपलब्ध के तहत  रेलवे न्यायिक दंडाधिकारी किऊल के नेतृत्व में आरपीएफ जीआरपी व टिकट निरीक्षक के द्वारा संयुक्त रूप से किऊल स्टेशन पर टिकट चेकिंग व रेल अधिनियम के तहत अभियान चलाया गया। इस अभियान में टिकट चेकिंग में 95 व्यक्ति पकड़े गए जिनसे जुर्माना  62,270 रुपये वसूला गया। रेल अधिनियम के तहत गिरफ्तारी भी की गई। विकलांग कोच से - 08, महिला कोच से- 45, अवैध वेंडर - 02  गिरफ्तार किए गए। सभी के विरुद्ध आरपीएफ किऊल में मामला दर्ज कर  14700 रुपये जुर्माना वसूला गया। 

पटना जंक्‍शन पर लगातार चल रहा ऐसा अभियान 

पटना जंक्‍शन पर रेलवे की ओर से ऐसा अभियान लगातार नियमित अंतराल पर चलाया जा रहा है। इसमें बिना ट‍िकट यात्रियों के साथ ही, वैसे यात्रियों पर भी जुर्माना लगाया जाता है, जो निचली श्रेणी का टिकट लेकर उच्‍च श्रेणी के कोच में यात्रा करते पकड़े जाते हैं। पटना - गया रेलखंड की ट्रेनों में ऐसी समस्‍या अधिक है। 

अगस्‍त महीने में भी चला था विशेष अभियान

पटना जंक्‍शन पर अगस्‍त महीने में भी ऐसा ही अभियान चलाया गया था। 20 अगस्‍त को विशेष अभियान में 300 से अधिक लोग, 3 जून को 2000 से अधिक लोग और 28 अप्रैल को 1000 से अधिक लोगों से अभियान चलाकर जुर्माना वसूल किया गया था। जुर्माना नहीं देने वालों को जेल भेज दिया जाता है। 

Edited By: Shubh Narayan Pathak