पटना, जागरण टीम।  बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के आदेश पर गुरुवार की रात अचानक बिहार के सभी जिलों के पुलिस लाइन में छापेमारी की गई जिससे हड़कंप मच गया। आदेश के मुताबिक सभी जिलों के एसपी खुद सीनियर ऑफिसर्स के साथ पुलिस लाइंस पहुंचे और छापेमारी की। छापेमारी में जहां  पटना पुलिस लाइन परिसर में शराब की दो दर्जन से अधिक खाली बोतलें मिलीं वहीं गया और मोतिहारी जिले में आधे दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी शराब के नशे में धुत मिले। 

पटना पुलिस लाइन में मिलीं शराब की खाली बोतलें 

पुलिस लाइंस में अचानक से रात में बड़े साहब को देख पुलिसकर्मियों के बीच हड़कंप मच गया। पटना पुलिस लाइंस में जब एसएसपी उपेन्द्र शर्मा तीन सिटी एसपी के साथ पहुंचे तो पुलिस लाइन में तैनात पुलिसकर्मियों के बीच हड़कंप मच गई। एसएसपी के नेतृत्व में पुलिस की टीम स्निफर डॉग के साथ पहुंची थी। पुलिस अफसरों ने 12 बड़े बैरकों और17 छोटे  बैरकों में तलाशी लेनी शुरू की, जिसमें शराब की खाली बोतलें बरामद की गईं।

 

मोतिहारी-गया से नशे में धुत पांच पुलिसकर्मी गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक नवीन चंद्र झा के नेतृत्व में गुरुवार की देर रात्रि पुलिस लाइन में  सघन छापेमारी की गई। इस दौरान शराब के नशे की हालत में एक सिपाही गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार सिपाही धर्मराज सिंह दाऊद नगर औरंगाबाद का  रहने वाला है।

गिरफ्तार सिपाही की मेडिकल जांच करा पुलिस ने हिरासत में रखा है। बताया गया है कि मुख्यालय के निर्देश पर सूबे के सभी पुलिस लाइन में  छापेमारी की गई है। इस क्रम में यहां भी यह कार्रवाई हुई।

इसके साथ ही गया पुलिस लाइन में भी चार पुलिस कर्मी दबोचे गए हैं, जिसमें रिटायर्ड सूबेदार टुडूजी, मंगल टिग्गा, लखन उरांव औऱ जावेद मिंज शामिल हैं। ये सभी शराब के नशे में चूर थे। 

 

पुलिस मुख्यालय की बड़ी कार्रवाई

अब सवाल यही है कि बिहार में शराबबंदी का कानून लागू है और जिस पुलिस पर शराबबंदी कानून को सख्ती से लागू करने की जिम्मेवारी है उसी पुलिस के यहां शराब की खोज के लिये तलाशी होना बड़ी बात है, लेकिन बिहार पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों की नजर में यह अजूबा नही है। कई बार स्वयं पुलिसकर्मी भी शराब के नशे में धुत्त पाए गए हैं और उनका वीडियो वायरल हुआ है।

इसके साथ ही कई जिलों से पुलिस लाइन में शराब मिलने की भी शिकायतें मिलीं थीं। इसके बाद डीजीपी गुपतेश्वर पांडेय ने मुख्यालय स्तर पर गठित कोर कमिटी की बैठक में पुलिस लाइन में औचक छापेमारी कर शराब की जांच करवाने का आदेश दिया था।

शराबबंदी कानून से कोई समझौता नहीं, कोई बख्शा नहीं जाएगा 

बता दें कि पटना पुलिस लाइन में तो बिहार पुलिस एसोशिएसन के तत्कालीन अध्यक्ष निर्मल सिंह को ही कुछ अन्य पुलिसकर्मियों के साथ शराब पीते पकड़ा गया था। अभी तीन दिन पहले भी पटना पुलिस लाइन में अंग्रेजी शराब की 32 बोतलें मिली थीं, जिसके बाद कार्रवाई करते हुए एक महिला सिपाही के बेटे चंदन समेत दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

पटना पुलिस लाइन ने शराब की खाली बोतलें मिलने की बात कई बार सामने आ चुकी हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जब गुरुवार की रात एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने औचक छापेमारी की तब पुलिस लाइन के अंदर  मैदान एयर एटीएम के पास दर्जन भर शराब की खाली बोतले बरामद की गईं हैं।

बिहार पुलिस मुख्यालय ने अपने सख्त तेवर से साफ कर दिया है कि शराबबंदी कानून को लेकर वह कोई समझौता नहीं करना चाहता है।

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस