पटना [राज्य ब्यूरो]। रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के खीर वाले बयान से राजद ने पर्दा उठाते हुए दावा किया है कि महागठबंधन में उनका आना तय है। राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि राजग में छोटे दल घुटन महसूस कर रहे हैं। सभी भागने के लिए छटपटा रहे हैं। चंद्रबाबू नायडू ने पहले ही साथ छोड़ दिया है। शिवसेना भी झटके दे चुकी है। अब बिहार की बारी है।

रघुवंश ने भविष्यवाणी करते हुए कहा कि वह जो पहले कह देते हैं, बाद में वही होता है। इसके लिए रघुवंश ने पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी का हवाला दिया और कहा कि सबसे पहले उन्होंने कह दिया था कि मांझी ज्यादा दिनों तक राजग में नहीं रहेंगे। यह सच निकला। मांझी आज महागठबंधन में हैं।

रघुवंश ने दावा किया कि रामविलास पासवान भी भाजपा के साथ बेहतर महसूस नहीं कर रहे हैं। कुशवाहा के साथ पासवान को भी अहसास हो चुका है कि महागठबंधन का ही भविष्य है। रघुवंश ने कहा कि कुशवाहा से पहले पासवान भाजपा को छोड़ देंगे। उनसे बातचीत हो चुकी है। रालोसपा भी महागठबंधन में जल्द ही शामिल होगी।

विदित हो कि उपेंद्र कुशवाहा ने हमेशा यह दावा किया है कि वे नरेंद्र मोदी को फिर से अगला प्रधानमंत्री बनते देखना चाहते हैं। उन्‍होंने पीएम मोदी में हमेशा आरसथा व्‍यक्‍त की है। लेकिन, उनकी मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से अदावत भी जग जाहिर है। ऐसे में उनके विपक्षी महागठबंधन में आने के कयास लगाए जाते रहे हैं। लेकिन, महागठबंधन में मुख्‍यमंत्री पद के प्रत्‍याशी लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्‍वी यादव हैं। ऐसे में अगर कुशवाहा महागठबंधन में आते हैं तो उन्‍हें तेजस्‍वी को मुख्‍यमंत्री प्रत्‍याशी मानना होगा।

Posted By: Amit Alok