पटना [जेएनएन]। केंद्रीय मंत्री और नवादा से सांसद गिरिराज सिंह लापता हैं और उन्हें ढूंढकर लाने वाले को ग्यारह हजार रुपये का नगद इनाम दिया जाएगा। एेसा हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि नवादा जिले के रजौली क्षेत्र में जगह-जगह पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें सूचना देते हुए लिखा है कि केंद्रीय मंत्री और हमारे सांसद लापता हैं। 

नवादा सांसद के लापता होने का पोस्टर चस्पा

केंद्रीय राज्य मंत्री सह नवादा सांसद गिरिराज सिंह के लापता होने का पोस्टर रजौली अनुमंडल मुख्यालय के चौक-चौराहों पर चिपकाया गया है। मंगलवार की रात में पोस्टर चिपकाया गया, जिसपर बुधवार की सुबह लोगों की नजर पड़ी।

इसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा पोस्टर हटाने का कार्य शुरू किया गया। लेकिन, ततबतक पोस्टर सोशल साइट पर वायरल हो गया। इधर, भाजपा के जिलाध्यक्ष ने इसे असमाजिक तत्वों का कुकृत्य बताया है। 

बताया जाता है कि बुधवार की सुबह जब लोग घरों से बाहर निकले तो हर चौक-चौराहों पर सांसद के लापता होने का पोस्टर चस्पा मिला। जिस किसी की नजर पड़ती ठहर कर पढ़ते और अपने-अपने अंदाज में प्रतिक्रिया देते आगे बढ़ जाते। बात तेजी से फैली। सोशल साइटों पर पोस्टर व मैसेज वायरल होने लगा।

पहले वाट्सएप पर फिर फेसबुक पर भी आ गया। उसके बाद विभिन्न खबरिया चैनलों व वेब साइट पर खबरें प्रसारित होने लगी। तब जाकर भाजपा के कुछ कार्यकर्ता सक्रिय हुए और फिर पोस्टर को हटाने में जुट गए। पोस्टर बजरंगबली चौक, प्रखंड कार्यालय गेट, इंटर विद्यालय के मुख्य द्वार,इंटर विद्यालय मैदान, पुरानी बस स्टैंड, रजौली बाइपास आदि स्थानों पर लगाया गया था। 

क्या लिखा है पोस्टर में

पोस्टर में लिखा गया है कि नवादा के सांसद सह केंद्रीय मंत्री गिरिराज ङ्क्षसह विगत कई सालों से लापता है। जिन्हें रजौली की समस्त जनता बेसब्री से ढूंढ़ रही है। जिन किन्हीं भाई बहनों को कहीं दिखाई पड़े या मिलें तो कृपया कर जल्द से जल्द रजौली के समस्त जनता को सूचित करने का कष्ट करें। सूचना देने वाले को 11 हजार रुपये देकर पुरस्कृत किया जाएगा। निवेदक में रजौली की समस्त जनता लिखा है। 

जिलाध्यक्ष ने आरोपों को नकारा

इस मामले में भाजपा के जिलाध्यक्ष शशि भूषण कुमार बब्लू ने केंद्रीय मंत्री के बचाव में पक्ष रखा। कहा कि लापता होने का जो पोस्टर रजौली में साटा गया है वह असामाजिक तत्वों द्वारा किया गया कुकृत्य है। ऐसी गंदी राजनीति से लोगों को बचने की जरूरत है। हकीकत तो यह है कि कभी ऐसा नहीं हुआ जब 15-20 दिनों के अंदर जिले में उनका आना न हुआ हो।

हाल ही में रजौली विधानसभा के मेसकौर प्रखंड में उनका कार्यक्रम कई गांवों में हुआ। मेसकौर प्रखंड में जनता दरबार लगाया। जिसमें रजौली एसडीओ, रजौली एसडीपीओ, सिविल सर्जन, बीडीओ, सीओ एवं अन्य पदाधिकारियों की मौजूदगी में जनता की समस्याओं को सुनकर उसका निदान का प्रयास किया। जहां तक रजौली जाने का मामला है तो पहले भी कई बार रजौली जा चुके हैं।

उन्होंने कुछ लोगों को वचन दिया था कि जबतक राजमार्ग 31 का कार्य प्रारंभ नहीं करवा देता तबतक रजौली नहीं जाऊंगा। राजमार्ग मरम्मति कार्य शुरू होने वाला है। जल्द ही वे रजौली में होंगे। बता दें कि इसके पूर्व संसदीय क्षेत्र के बरबीघा में भी दो वर्ष पूर्व सांसद के लापता होने का पोस्टर सटा था। 

रजौली के कार्यकर्ताओं ने की निंदा

पोस्टर छापने की सूचना मिलने पर रजौली के भाजपा मंडल अध्यक्ष रंजीत सिंह व भाजयुमो के जिला मंत्री सह विधानसभा प्रभारी मिथलेश राजवंशी पोस्टर हटाते दिखे, और इस प्रकरण की कड़ी ङ्क्षनदा की। कहा कि मंत्री बराबर नवादा आते हैं। हर गांव के लोगों के साथ मिलते हैं व उनको समय देते हैं।

यह सब असामाजिक तत्वों का काम है। मंत्री की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया गया है। यह दूसरी बार हुआ है। इसके पूर्व शेखपुरा जिले के बरबीघा में भी पोस्टर लगाया गया था। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस