पटना [जेएनएन]। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे के बाद राज्‍यपाल द्वारा सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के बुलावे पर बिहार में भी सियासत चरम पर है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने महागठबंधन के नेताओं के साथ राज्‍यपाल से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया। तेजस्‍वी के दावे पर भाजपा व जदयू नेताओं ने पलटवार किया है। कहा कि तेजस्‍वी राजनीतिक रूप से बेरोजगार हो चुके हैं।

शुक्रवार को करीब एक बजे तेजस्‍वी यादव के नेतृत्‍व में महागठबंधन के घटक दल राजद, कांग्रेस और हम के विधायक राज्‍यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे। यहां उनलोगों ने राज्‍यपाल को ज्ञापन सौंप सरकार बनाने का दावा पेश किया। तेजस्‍वी ने कहा कि हमारे पास राजद, कांग्रेस, हम, माले के साथ-साथ जदयू के विधायकों का भी समर्थन है। जदयू के विधायक डरे हुए हैं इसलिए खुलकर सामने नहीं आ रहे हैं। फ्लोर टेस्‍ट में हम पास हो जायेंगे।

तेजस्‍वी के इस बयान पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने पलटवार किया है। कहा कि तेजस्‍वी राजनीतिक रूप से बेरोजगार हो चुके हैं। खाली दिमाग शैतान का घर होता है। उनका दिमाग खाली है तो शैतानी चल रही है। उनको अच्‍छी तरह मालूम है कि उनके पास और साथ कितने विधायक हैं। साथ ही उन्‍होंने कहा कि कर्नाटक में नवगठित येदियुरप्‍पा सरकार फ्लोर टेस्‍ट में पास हो जायेगी।

श्रम संसाधन मंत्री बृजेश सिन्हा ने कहा कि बिहार में स्वच्छ वातावरण की सरकार है। तेजस्वी पहले अपने ऊपर लगे आरोप की चिंता करें। अपने पिता और सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव की चिंता करें। राजद विधायक पहले ही टूट चुके हैं। उनमें एकता नहीं बची है। वे सिर्फ दिखावे के लिए एक साथ हैं।

By Ravi Ranjan