पटना [जेएनएन]। समय के साथ बिहार पुलिस के कामकाज के तरीके हाइटेक हो रहे हैं। मुखबिरों के अलावा अब केस को सुलझाने के लिए टेक्‍नोलॉजी का भी सहारा ले रही है। मंगलवार को पुलिस ने गूगल मैप की सहायता को बीते 10 दिन से बंधक बनाकर रखे गए उपेन घोष को सकुशल बरामद किया। साथ ही आरोपी अरूण को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर जिले के गंगारामपुर थाना के बेलबारी के रहने वाले उपेन घोष रेडिएशन कंपनी में काम करते हैं। उनके और अरूण कुमार के बीच रेडियेशन प्‍लांट लगाने को लेकर दो लाख रूपये की लेन-देन हुई थी। बाद में यही पैसा विवाद का कारण बना और अरूण ने उपेन का अपहरण कर लिया।

पिता के घर नहीं लौटने पर उपेन घोष की पुत्री ने अपने मोबइल से पुलिस को सूचना दी। कोतवाली थाने की पुलिस ने हाईटेक तकनीक के सहारे मामले की जांच करते हुए गूगल मैप के आधार पर आरोपित के घर पहुंची और अपह्त उपेन घोष को मुक्‍त करवाया।

वहीं, अारोपी अरूण कुमार को जक्‍कनपुर थाने के मारूतीनगर से गिरफ्तार किया है। प्रारंभिक पूछताछ में अाराेपी अरूण कुमार ने पुलिस के सामने कई अहम बातों की जानकारी दी है। पुलिस उसकी तफ्दीश में जुटी है।

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप