संवाद सूत्र, थावे (गोपालगंज) : वृंदावन सदासी गांव में पहुंची थावे थाने पुलिस सोमवार की रात तीन मासूम बच्चों को जबरन उठाने के बाद थाना लेकर पहुंच गई। घटना के बाद तीनों मासूम बच्चों के परिवार के सदस्य व ग्रामीण उग्र हो गए तथा मीरगंज-गोपालगंज मुख्य पथ को जामकर प्रदर्शन प्रारंभ कर दिया। ग्रामीणों के प्रदर्शन के बाद पुलिस ने तीनों बच्चों को मुक्त करते हुए उन्हें परिवार के सदस्यों के हवाले कर दिया। तीनों मासूम बच्चों के परिवार के सदस्यों ने पुलिस पर अभद्र व्यवहार करने तथा घर में मौजूद सामानों की तोडफ़ोड़ करने का आरोप लगाया है। 

जानकारी के अनुसार थावे थाने की पुलिस सोमवार की रात उचकागांव थाना क्षेत्र के वृंदावन सदासी राय के टोला गांव स्थित मोहन महतो के निर्माणााधीन मकान पर पहुंची। घटना के समय मोहन महतो के परिवार के बच्चे निर्माणाधीन मकान की छत पर सो रहे थे। देर रात पहुंची पुलिस बगैर कोई कारण बताए उनके तीनों मासूम बच्चों को अपने कब्जे में ले लिया। बाद में पुलिस उनके 13, 11 व छह वर्षीय पुत्रों को लेकर थावे थाना चली आयी। मोहन महतो के परिवार के लोग पूरी रात बच्चों को लेकर परेशान रहे। इस बीच पुलिस कुछ भी बताने से परहेज करती रही। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद मासूम बच्चों के परिवार के सदस्यों के अलावा गांव के लोगों का धैर्य जवाब दे दिया। ग्रामीण उग्र होकर मीरगंज-गोपालगंज मुख्य पथ पर पहुंच गए तथा जाम करने के बाद प्रदर्शन करने लगे। इय बीच करीब एक घंटे तक इस पथ पर वाहनों का आवागमन बाधित रहा। प्रदर्शन की सूचना के बाद सरपंच ङ्क्षटकू तिवारी के अलावा प्रभुनाथ सिंह ने लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया। उधर ग्रामीणों के सड़क जाम करने की घटना के बाद पुलिस ने तीनों मासूम बच्चों को थाना से मुक्त करते हुए उन्हें परिवार के लोगों के हवाले कर दिया। उधर पीडि़त मोहन महतो ने आरोन लगाया है कि पुलिस ने बच्चों को उठाकर ले जाने के पूर्व उनके घर में पहुंचकर जांच पड़ताल की। इस बीच घर के सामानों को भी पुलिस को तोड़ दिया। इस संबंध में पूछे जाने पर थावे थानाध्यक्ष किरण शकंर ने बताया कि इन बच्चों पर पुलिस के वाहन पर पत्थर चलाने का आरोप है। उन्होंने बताया कि पूछताछ के बाद तीनों बच्चो को उनके स्वजन को सौंप दिया गया। 

Edited By: Akshay Pandey