पटना । नगर निगम के अधिकारी मेयर की भी नहीं सुनते। इस कारण मेयर की ओर से की गई तमाम घोषणाएं फाइलों में कैद हो गई हैं। ये घोषणाएं पटना नगर निगम के बोर्ड से लेकर सशक्त स्थायी समिति से भी पारित हैं। शहर में जलजमाव से मुक्ति व अन्य नगरीय सुविधाओं को लेकर नगर निगम क्षेत्र की जनता लगातार मेयर व वार्ड पार्षदों से सवाल करती है। लेकिन वे भी आश्वासन के अलावा कुछ भी देने में असहाय दिख रहे हैं। स्थिति यह है कि वार्डो में खुले पड़े मैनहोल, जर्जर सड़कोंआदि को लेकर वार्ड पार्षदों को निगम के अधिकारियों के यहां चक्कर लगाना पड़ रहा है। नगर निगम की सरकार बने 19 जनवरी को सात महीने पूरे होने जा रहे हैं। जनता को पटना के स्मार्ट सिटी की सूची में शामिल होने के अलावा कुछ भी नहीं मिला है।

--------

: फाइलों में नाला उड़ाही जांच, कूड़ा उठाव की भी नहीं मिली जानकारी :

मेयर सीता साहू के कार्यकाल के दो महीने पूरे होने पर निगम के कंकड़बाग अंचल में नाला उड़ाही की गड़बड़ी को लेकर जांच का आदेश दिया गया था। लेकिन यह जांच का आदेश भी निगम के अधिकारियों के यहां फाइलों में दब गया। बताया जाता है कि कंकड़बाग अंचल में नाला उड़ाही में व्यापक गड़बड़ी की शिकायत मिली थी। यहीं नहीं, मेयर ने निगम में हो रहे डोर-टू-डोर कूड़ा उठाव में एजेंसी के भुगतान तथा एजेंसी की ओर से किए जा रहे कूड़ा उठाव को लेकर पूरी जानकारी मांगी थी। लेकिन निगम के अधिकारियों की ओर से अब तक इसका जवाब नहीं दिया गया।

--------

जन सुविधा पर ध्यान नहीं दे रहे अधिकारी :

नगर निगम के अधिकारी नागरिक सुविधाओं को लेकर सजग नहीं हैं। बार-बार निर्देश दिए जाने के बाद भी मेरी कोई बात नहीं सुनते। मुख्यमंत्री कच्ची गली-नाली योजना को जल्द पूरा करने में भी टालमटोल रवैया अपनाया जा रहा है। इसके कारण जनता लगातार मुझसे व तमाम वार्ड पार्षदों से सवाल करती है। मामले को लेकर नगर विकास सह आवास विभाग के मंत्री को सूचना दी गई है।

- सीता साहू, मेयर पटना।

-----------------

: आधे-अधूरे हैं कार्य :

- नहीं हुई कंकड़बाग अंचल में नाला उड़ाही में गड़बड़ी की जांच

- अवैध होर्डिग को हटाने की कार्रवाई

- डोर-टू-डोर कूड़ा उठाव में एजेंसी को किए गए भुगतान की जानकारी।

- कितने घरों से हो रहा डोर-टू-डोर कूड़ा उठाव।

- पीआर एजेंसी की बहाली

- बायोमीट्रिक उपस्थिति व परिचय पत्र

- वार्डो में 10-10 ट्राइसाइकिल।

- पार्षदों के लिए शहर में कहीं भी निश्शुल्क वाहन-पार्किंग की व्यवस्था।

- पटना सिटी अंचल में डोर-टू-डोर कचरा उठाने की निगम के स्तर से कार्रवाई

- मौर्यलोक परिसर का जीर्णोद्धार व आउटसोर्सिग से साफसफाई व सुरक्षा

- कंकड़बाग अंचल को जलजमाव मुक्त करने के लिए नाला निर्माण।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस