पटना [अरविंद शर्मा]। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बिहार की धरती से नए सियासी अध्याय की शुरुआत करने वाले हैं। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के एलान और लोकसभा चुनाव की तैयारियों के बीच पटना विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह में शिरकत करने के लिए वे शनिवार को बिहार दौरे पर पहुंचे हैं।

इस दौरान पीएम मोकामा में 3769 करोड़ रुपये की लागत वाली आठ विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास करेंगे। महागठबंधन को बिहार की सत्ता से बेदखल करने और राज्य में राजग की नई सरकार के गठन के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मोकामा में नरेंद्र मोदी की पहली सार्वजनिक सभा होगी। 

 

राजनीतिक रूप से प्रभावी बिहार पर प्रधानमंत्री की विशेष इनायत दिखती है। इस साल अभी तक वह तीन बार यहां आ चुके हैं। साल की शुरुआत में पांच जनवरी को प्रधानमंत्री गुरु गोविंद सिंह की 350वीं जयंती (प्रकाश पर्व) पर पटना आए थे। तब बिहार में महागठबंधन की सरकार थी।

 

सत्ता परिवर्तन के बाद 26 अगस्त को उन्होंने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया था। इसके पहले बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान उन्होंने अकेले करीब दो दर्जन से भी ज्यादा जनसभाओं को संबोधित किया था। प्रधानमंत्री ने इसके पहले भी बिहार में कई सरकारी कार्यक्रमों में शिरकत की है। 

 

भाजपा ने प्रधानमंत्री की जनसभा को ऐतिहासिक बनाने के लिए पूरी ताकत लगा दी है। प्रदेश नेतृत्व ने सवा दो लाख समर्थकों की भीड़ जुटाने का लक्ष्य प्रदेश पदाधिकारियों एवं पार्टी के जनप्रतिनिधियों को पहले ही दे रखा है।

 

पटना हवाई अड्डे से लेकर मोकामा तक भव्य सजावट की गई है। हालांकि पटना साइंस कालेज में शताब्दी समारोह में शिरकत करने के बाद प्रधानमंत्री करीब 90 किमी दूर मोकामा के लिए हेलीकॉप्टर से प्रस्थान करेंगे। फिर भी भाजपा की कोशिश है कि भव्यता में कोई कसर न रहे। 

 

पीएम के साथ मंच पर करेंगे शिरकत 

मोकामा की जनसभा के दौरान मंच पर प्रधानमंत्री के साथ शिरकत करने वालों में राज्यपाल सत्य पाल मलिक, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, रविशंकर प्रसाद, राम विलास पासवान, गिरिराज सिंह, राधा मोहन सिंह, उपेंद्र कुशवाहा, अश्विनी चौबे, आरके सिंह, रामकृपाल यादव, बिहार सरकार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव, नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी एवं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद शामिल हैं। 

 

इन योजनाओं की रखेंगे बुनियाद 

1. एनएच-31 के औंटा सिमरिया रोड को फोर लेन करना एवं छह लेन गंगा सेतु का निर्माण : 1161 करोड़ 

2. एनएच-31 के बख्तियारपुर-मोकामा को 44.60 किमी में फोर लेन करना : 837 करोड़

3. एनएच-107 के महेशखुंट-सहरसा-पूर्णिया का पेव्ड शोल्डर समेत 88 किमी टू-लेन का निर्माण : 736 करोड़

4. एनएच-82 के बिहारशरीफ-बरबीघा-मोकामा का पेव्ड शोल्डर समेत 54.57 किमी टू-लेन निर्माण : 297 करोड़ 

5. पटना शहर के लिए चार सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट एवं 235 किमी लंबा सीवर नेटवर्क योजनाएं : 738.04 करोड़

 

पीएम का कार्यक्रम 

10.40 : पटना हवाई अड्डे पर आगमन

11.00-12.15 : साइंस कालेज में पटना विश्वविद्यालय के कार्यक्रम में शामिल होंगे 

1.15 : मोकामा हेलीपैड पहुंचेंगे 

1.25 : योजनाओं का शिलान्यास एवं संबोधन

2.30 : कार्यक्रम स्थल से हेलीपैड के लिए रवाना

2.40 : मोकामा से पटना के लिए प्रस्थान

3.10 : नई दिल्ली के लिए प्रस्थान

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस