जागरण टीम, पटना। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Mod) ने पश्चिमी चम्पारण के रामनगर से पांच किमी दूर हरिनगर चीनी मिल के बंजरिया फार्म में आयोजित एनडीए की विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए मंच से जहां सीएम नीतीश की जमकर प्रशंसा की, वहीं महागठबंधन पर जमकर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि नीतीशजी ने बिहार के घरों से लालटेन हटाकर एलईडी बल्ब की दूधिया रौशनी फैला दी है। 

भोजपुरी में किया संबोधित, विपक्ष पर बोला करारा हमला

पीएम ने भोजपुरी में अभिवादन करने के बाद कहा कि चंपारण की धरती ने स्‍वच्‍छता के प्रति राह द‍िखाई है। स्वच्छाग्रह जीवन का ह‍िस्सा बन गया है, सम्‍मान का हि‍स्‍सा बन गया है। कांग्रेस, आरजेडी और उनके साथ‍ियों ने इस धरती के साथ धोखा क‍िया। ब‍िहार के सपनों को तोड़ा गया। आप सब इसके गवाह हैं। लेकिन ब‍िहार के लोगों ने इन महाम‍िलावटी लोगों की ताकत बढ़ने नहीं दी। ब‍िहार के लोग इनके सामने चट्टान बन गए।

महामिलावटी लोग अब डिक्‍शनरी लेकर नई गाली खोज रहे हैं

पीएम ने कहा कि चार चरणों के बाद इनके झूठे दावों की पोल खुल गई है। वंशवाद और भ्रष्‍टाचार की काली कमाई से इनमें जो अहंकार है, उसे ठीक करने की लोगों ने ठान ली है। ये हारे हुए लोग इससे बाहर निकलने का रास्‍ता तलाश  रहे। ये पहले मोदी को गाली दी, महामिलावटी डिक्‍शनरी लेकर नई गाली खोज रहे हैं।

चार चरणों के बाद आधी गाली मोदी को और आधी गाली ईवीएम को दे रहे थे। लेकिन पिछले तीन दिन से इनकी हालत अधिक खराब है, ये संतुलन गंवा चुके हैं। ये अब चुनाव आयोग को गाली दे रहे हैं। ये हार का रेडीमेड बहाना है। क‍िसी छात्र का पेपर खराब होता है, तो कई बहाने बनाता है। हालात को दोषी ठहराता है, महामिलावटी भी ऐसे ही हैं।

विपक्ष को झूठ बोलने में शर्म नहीं

पीएम ने कहा कि कांग्रेस का ऐसा झटका लगा कि इस बार वो कम सीटों पर चुनाव लड़ रही है। इनकी स्‍थ‍िति‍ ऐसी क्‍यों? वंश और विरासत से एक कंपनी की कमान तो मिल सकती है, पर चलाने के लिए वि‍जन कहां से लाओगे। महागठबंधन के पास नाम और दाम का व‍िजन, झूठ की राजनीत‍ि कर रहे। इनका इरादा ब‍िहार की सेवा करने का नहीं है। ये खुद को सेवक नहीं, लोकतंत्र का महाराजा बता रहे। झूठ बोलने में शर्म नहीं। आरक्षण के नाम पर झूठ फैला रहे हैं। झूठ बोले बिना इनका खाना हजम नहीं होता।

एनडीए ने भारत की चेतना को ऊर्जा दी है

गरीब परिवार को 10 प्रति‍शत आरक्षण दिया, कि‍सी का हक नहीं छीना। इस देश में जब भी आरक्षण का मुद्दा आया, समाज तोड़ा गया, लड़ाया गया, अपनी राजनीत‍िक रोटी सेंकते रहे। 10 प्रति‍शत आरक्षण में ऐसा कुछ नहीं हुआ। इनका खेल अब खत्म है। हमारी सरकार ने भारत की चेतना को नई ऊर्जा दी है।

72 हजार के नाम पर नागरिकों का अपमान किया जा रहा है 
उन्होंने कहा कि आदिवासियों को गुजरात में एक फॉर्म दिया गया। कांग्रेस के द्वारा और कहा गया कि हमारी सरकार बनने वाली है इसको भरिए। हमारी सरकार बनते ही आपको पट्टे दिए जाएंगे, लेकिन जब वे बेचारे सरकारी दफ्तरों में पहुंचे तो वहां बताया गया कि ऐसा तो कुछ है ही नहीं। दूसरा चुनाव आते ही कांग्रेस दफ्तर के सामने एक मैदान था, मैदान में हार्ड बोर्ड का एक मकान खड़ा किया गया और पूरे गुजरात में कहा गया कि ऐसा घर सब को मिलेगा और वह घर कांग्रेस दफ्तर के सामने हैं, जाकर देख आइए। आज राजस्थान में गरीबों से फॉर्म भरवा रहे हैं और फर्जी चेक छपवाये जा रहे कि चुनाव के बाद आपको 72000 रुपये मिलेंगे। यह नागरिकों का भारी अपमान है। 

किसानों की आय दोगुनी होगी 
प्रधानमंत्री ने कहा कि अब किसान बांस उगाकर बेच सकेंगे। क‍िसानों को लागत का डेढ गुना लागत मूल्‍य म‍िलेगा। क‍िसानों के साथ धोखा कर कर रहे थे ये लोग। 23 मई को चुनाव पर‍िणाम आने के बाद फ‍िर एक बार मोदी सरकार। क‍िसान सम्‍मान में पांच एकड़ की सीमा खत्‍म होगी। किसानों की आय दाेगुनी होगी।  हर किसान के खाते में दूसरी किस्त भेजी जाएगी, सबको लाभ होगा।

बन रहा है रामायण सर्किट, बिहार में पर्यटन का होगा विस्तार

रामायण से जुड़ा स्‍थान होने के कारण रामायण सर्किट बन रहा, पर्यटन का वि‍स्‍तार होगा। बिहार में बिजली की उपलब्‍धता पर विशेष बल द‍िया जा रहा। नीतीश जी ने मेहनत से लालटेन हटाया है। सीतामढ़ी में जो स्‍टेशन बन रहा, उससे कई ज‍िलों को बिजली म‍िलेगी। विकास के रास्‍ते तभी खुलेंगे जब सुरक्षा की गारंटी होगी।

गाेली चलेगी तो हम गोला चलाएंगे
मोदी ने कहा कि पहले अाए दिन बम धमाका होता था, सिर्फ पांच साल में पांच साल में लगाम लग गई है। क‍िसने लगाई... मोदी मोदी के नारे। प्रधानमंत्री ने कहा कि सुरक्षा एजेंस‍ियां ताकतवर हो गई हैं, सेना के हाथ खोल द‍िए गए। आपने जो मजबूत सरकार बनाई है, संदेश है भारत चुप नहीं रहेगा। आतंकी हो या मददगार, घर में घुस कर मारेंगे। गोली चलेगी तो हम गोला चलाएंगे।

सीएम नीतीश कुमार ने की पीएम मोदी की प्रशंसा

बगहा के रामनगर में पीएम नरेंद्र मोदी की सभा को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश ने मसूद अजहर मामले पर कहा कि ग्लोबल आतंकी घोषित करना बड़ी उपलब्धि है। ये काम सिर्फ मोदी सरकार ही कर सकती है।नीतीश ने कहा कि चंपारण की धरती से कार्यों की शुरुआत होती है। चंपारण से हमारा विशेष लगाव है। जो किनारे पड़े हुए थे, उन्हें मुख्यधारा में लाया गया है। समाज के हर एक तबके के लिए काम कर रहे हैं। सबके सहयोग से आज बिहार आगे बढ़ रहा है। 

एक ओर विकास, दूसरी ओर विनाश : रामविलास 

कार्यक्रम में लोजपा प्रमुख व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कूटनीति है कि पूरा विश्व उनके साथ खड़ा है। मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करना इसी की एक बानगी है। एनडीए मोदी के साथ खड़ा है, दूसरी ओर विपक्ष बिखरा हुआ है। एक ओर विकास है तो दूसरी ओर विनाश। कांग्रेस ने कभी दलित राष्ट्रपति नहीं बनाया। यह काम पहली बार गैर कांग्रेसी दलों ने किया और दूसरी बार नरेंद्र मोदी ने किया। विपक्षी दलों के पेट में दर्द है कि एक पिछड़ी जाति का व्यक्ति प्रधानमंत्री कैसे बना है,वह लौह पुरुष कैसे बना है। ऐसे प्रधानमंत्री के ऊपर हमको नाज़ है।

आतंकी हमले की सूचना, अलर्ट जारी

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शनिवार को रामनगर में होनेवाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा को लेकर प्रशासन ने हाई अलर्ट जारी किया था। खुफिया सूत्रों से सूचना मिली थी कि आतंकवादियों के कई संगठन प्रधानमंत्री की सुरक्षा में सेंध लगाने की कोशिश कर सकते हैं। इस बाबत जिले के गोपनीय शाखा द्वारा जारी पत्र में बताया गया था कि पीएम मोदी को पाकिस्तानी एवं कश्मीरी आतंकवादियों से विशेष खतरा है। 

इसके साथ ही सूचना में बताया गया था कि राष्ट्र विरोधी तत्वों, मुस्लिम कट्टरपंथियों और विभिन्न आतंकवादी संगठनों के निशाने पर भी पीएम मोदी हैं। वे मौके की तलाश में हैं और जरा सी चूक होने पर भी घटना को अंजाम दे सकते हैं। विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि पूरे देश में आतंकवादी संगठनों का मॉड्यूल सक्रिय है और उनके स्लीपर सेल हर जगह एक्टिव हैं, बस उन्हें ऊपर से किसी संदेश का इंतजार होता है, इसलिए प्रधानमंत्री की सुरक्षा का विशेष ख्याल रखना आवश्यक है।

उक्त पत्र में जिन आतंकवादी संगठनों का जिक्र है, उनमें लश्कर ए तैयबा, जैश ए मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन, अल उमर मुजाहिदीन, हरकत उल मुजाहिदीन, हरकत अल जिहाद ए इस्लामी, इंडियान मुजाहिदीन, जेकेएलएफ, सिमी, तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान, साहिन फोर्स के नाम शामिल हैं।

इसके अलावा कई सिख आतंकवादी संगठन जैसे खालिस्तान टाईगर फोर्स, अंतरराष्ट्रीय सिक्ख युवा फेडरेशन और अन्य उग्रवादी समूह के साथ उल्फा और नक्सलियों से भी खतरा है। खुफिया सूत्रों ने बताया कि मसूद अजहर को बार-बार प्रयास के बाद ग्लोबल आतंकी घोषित किया गया है, साथ ही कश्मीर में जमाते इस्लामी के ऊपर जो कार्रवाई हुई है, इसके अतिरिक्त टेरर फंडिंग पर सरकार ने जो नकेल कसी है, उसको लेकर आतंकवादी संगठनों में खलबली मची है। लिहाजा पीएम की सुरक्षा को लेकर विशेष सावधानी बरती जा रही है।

बेतिया के एसपी जयंत कांत ने बताया कि खुफिया एवं अन्य स्रोतों से मिली जानकारी के आधार पूरे चंपारण में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी। हर संदिग्ध गतिविधियों पर नजर थी। पीएम के दौरे को लेकर पुलिस पूरी तरह अलर्ट रही। किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी नहीं होने दी गई। 

सुरक्षा के कड़े इंतजाम
पीएम के आगमन को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। सभा स्थल और आसपास के इलाके एसपीजी के घेरे में थे। अग्निशमन दस्ता और डॉग स्क्वायड की टीम भी सभास्थल के पास मौैजूद रही । सभा स्थल के पास 2000 जवानों की ड्यूटी लगी थी। दोपहर से शाम पांच बजे तक रामनगर गोवर्धना मुख्य पथ पर वाहनों के आवागमन रोक लगी रही। इतना ही नहीं, शुक्रवार को तिरहुत प्रक्षेत्र के आइजी नैयर हसनैन खान ने सभा स्थल का जायजा लिया था। उन्होंने डीआइजी, डीएम व बगहा, बेतिया एसपी को जरूरी दिशा निर्देश दिए थे। भारत-नेपाल सीमा को सील कर दिया गया था। वहीं शनिवार को पीएम मोदी के लौटने के बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस