पटना, जेएनएन। सारण जिले में मानवीय असंवेदनशीलता की घटना सामने आयी है, जहां एक सड़क हादसे में दो युवकों ने तड़प-तड़पकर दम तोड़ दिया और वहां मौजूद भीड़ तमाशा देखती रही। इतना ही नहीं कुछ लोग वीडियो बनाते रहे और युवक तड़पते रहे।

घटना के लगभग एक घंटे बाद सूचना पाकर युवकों के परिजन मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी और दोनों युवकों की मौत हो चुकी थी जबकि तीसरा युवक घायल है और उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

घटना दरियापुर थाना के मटिहान गांव के पास की है, जहां बीती रात तीन युवक एक बाइक पर सवार होकर जा रहे थे कि सड़क किनारे खड़े ट्रक से उनकी बाइक टकरा गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि तीनों युवक उछलकर दूर जा गिरे। यह देखते ही ट्रक चालक ट्रक लेकर फरार हो गया और घायल युवक सड़क पर ही पड़े-पड़े तड़पते रहे।

हादसे के बाद सड़क पर स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गयी। कुछ लोगों ने युवकों का मोबाइल देखा तो उनके परिजनों को सूचित कर दिया। लेकिन भीड़ में किसी ने घायल युवकों को अस्पताल नहीं पहुंचाया। युवक तड़पते रहे और लोग मोबाइल में वीडियो बनाते रहे।

जब परिजन मौके पर पहुंचे तब तक एक युवक की मौत हो चुकी थी जबकि दो की हालत काफी गंभीर थी। इनमें से एक ने दिघवारा अस्पताल ले जाने के क्रम में दम तोड़ दिया और तीसरे को परिजनों ने अस्पताल में भर्ती कराया है उसकी हालत भी गंभीर बनी हुई है। 

भीड़ अगर तीनों युवकों को अस्पताल ले जाती तो शायद उन दोनों युवकों की जान बच सकती थी। ऐसी घटनाएं बताती हैं कि समाज कितना असंवेदनशील हो चुका है।

 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप