पटना। जन वितरण प्रणाली (पीडीएस) के लाभुक खाद्यान्न से वंचित न रह जाएं, इसके लिए विक्रेताओं को हाइब्रिड मॉडल का प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन लगाने का निर्देश दिया गया है। हाइब्रिड पीओएस ऑनलाइन मोड के साथ ही नेटवर्क नहीं रहने की स्थिति में ऑफलाइन भी कार्य करेगा। सभी पीडीएस दुकानों में पीओएस मशीन लगाकर योग्य लाभुकों को राशन व किरासन की आपूर्ति के लिए प्रशासनिक स्तर पर जागरुकता अभियान भी चलाया जाएगा। 21 नवंबर को अनुमंडल के स्तर पर और 28 नवंबर को पंचायत और वार्ड के स्तर पर अभियान चलेगा। इस आशय की जानकारी डीएम कुमार रवि ने दैनिक जागरण से बातचीत के दौरान दी।

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत हर योग्य लाभुक को राशन किरासन की आपूर्ति सुनिश्चित करने और फर्जीवाड़ा रोकने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। अब सभी दुकानों में पीओएस अनिवार्य करने के साथ ही लाभुकों के आधार का सत्यापन किया जा रहा है। पीओएस की अनिवार्यता के बाद ग्रामीण क्षेत्रों से नेटवर्क नहीं रहने पर परेशानी की शिकायतें आ रही हैं। इन शिकायतों से निपटने के लिए हाइब्रिड पीओएस लगाने का निर्देश पीडीएस दुकानदारों को दिया जा रहा है। डीएम ने बताया कि हाइब्रिड मॉडल ऑनलाइन के साथ ही नेटवर्क नहीं रहने पर ऑफलाइन भी काम करेगा। विशेष परिस्थिति में दुकानदार लाभुक की पहचान कर वितरण पंजी से आधार का सत्यापन के उपरांत राशन किरासन दे सकेंगे। ऐसे में दुकानदारों को वैसे लाभुकों की सूची पीओएस के माध्यम से ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर अपलोड करनी होगी। अगले माह इ-केवाइसी कराकर संबंधित लाभुकों को सत्यापित करना होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस