पटना । आर्य कुमार रोड स्थित 52 कट्ठे के भूखंड पर पटना नगर निगम एक बार फिर से मॉल सह शॉपिंग कॉम्प्लेक्स बनाने की तैयारी कर रहा है। सोमवार को मेयर सीता साहू की अध्यक्षता में आयोजित निगम की सशक्त स्थायी समिति की बैठक में इस पर चर्चा हुई। मेयर ने मुख्य अभियंता को पूरा डिटेल बनाकर अगली बैठक में लाने का निर्देश दिया। इस भूखंड पर निगम का मुख्यालय भी होगा।

बैठक में मौर्या टावर की ऊंचाई बढ़ाने को लेकर चर्चा की गई। मीठापुर बस स्टैंड से राजस्व वसूली की जिम्मेदारी अब निविदा के माध्यम से कराने का निर्णय भी लिया गया। यह कार्य भी मुख्य अभियंता के देखरेख में पूरा होगा। बैठक में उप मेयर विनय कुमार, नगर आयुक्त केशव रंजन, सशक्त स्थायी समिति की सदस्य मधु चौरसिया, दीपा रानी खान, पिंकी कुमारी, कंचन कुमारी, इंद्रदीप चंद्रवंशी, विकास मेहता आदि भी मौजूद थे।

-----

: क्या है आर्य कुमार रोड स्थित भूखंड का मामला :

मछुआ टोली से आगे बढ़ने पर पटना नगर निगम का लगभग 52 कट्ठे का भूखंड है। यहां अतीत में बांकीपुर अंचल का कार्यालय होता था। बाद में निगम बोर्ड ने मार्केट कॉम्प्लेक्स बनाने का निर्णय लिया। निविदा के माध्यम से इसका कार्य सुजाता कंस्ट्रक्शन को दिया गया। इसके लिए हुडको से करीब 1.72 करोड़ रुपये का ऋण भी लिया गया। लेकिन यह राशि केवल पायलिंग में ही खर्च हो गई। कार्य बंद हो गया। ऋण बढ़कर पांच करोड़ हो गया। बाद में ट्रिब्यूनल में समझौते के माध्यम से निगम ने दो करोड़ रुपये भुगतान किया। तब से यह मामला ठंडे बस्ते में है।

---------

: निगम की दुकानों का बढ़ेगा किराया :

पटना नगर निगम की ओर से आवंटित की गई दुकानों का किराया बढ़ाया जाएगा। इसके लिए सशक्त स्थायी समिति ने अगली बैठक में प्रस्ताव लाने को कहा है। बताया जाता है कि पटना नगर निगम की ओर से दो दशक से अधिक समय से किराया नहीं बढ़ाया गया है।

-------

: मौर्यलोक को लेकर अगली बैठक में होगी समीक्षा :

मौर्यलोक परिसर के सौंदर्यीकरण को लेकर निगम की ओर से हो रही कार्रवाई की ब्यौरा अधिकारी नहीं पेश कर सके। इसके बाद मेयर ने मुख्य अभियंता को अगली बैठक में डिटेल बनाकर पूरी जानकारी के साथ आने को कहा। साथ ही निगम में 10 वर्ष से अधिक समय तक सेवा दे चुके दैनिक कर्मियों को स्थायी करने को लेकर भी पूरी जानकारी के साथ अगली बैठक में आने का निर्देश दिया गया।

--------

विद्युत विपत्र समायोजन को लेकर नियुक्त हुए सीए :

निगम व विद्युत विभाग की ओर से विद्युत विपत्र समायोजन को सीए मुहर लगाएंगे। मामले को लेकर नगर विकास विभाग व विद्युत विभाग के वरीय अधिकारियों के साथ बैठक में यह निर्णय लिया गया है। इसके लिए निगम ने सीए की नियुक्ति पर अपनी मुहर लगा दी।

--------

: आधी-अधूरी तैयारी के साथ आए अधिकारी :

नगर निगम के अधिकारी सशक्त स्थायी समिति की बैठक को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। इसके लिए मेयर सीता साहू ने 17 दिसंबर की बैठक को रद करते हुए संलेख साथ लाने का निर्देश भी दिया। लेकिन सोमवार की बैठक में भी निगम अधिकारी आधी-अधूरी तैयारी के साथ आए। इस कारण नगर निगम की परिसंपत्ति व आय-व्यय को लेकर बैठक में चर्चा नहीं हो सकी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस