पटना, जेएनएन। पटना नगर निगम में कई गुटों में बंट चुके पार्षदों की आपसी लड़ाई अब खुलकर सामने आ गई है। पटना नगर निगम की वार्ड नंबर 21 की पार्षद पिंकी देवी ने मेयर सीता साहू के बेटे शिशिर पर अभद्रता करने और भद्दे इशारे करने का आरोप लगाया है और कहा है कि इस मामले में अब सीएम नीतीश कुमार संज्ञान लें ताकि दोबारा एेसी घटना ना हो। पिंकी देवी ने आरोप लगाया कि निगम की बैठक के दौरान शिशिर कुमार ने उन्हें आंख मारी और अभद्र इशारा किया। 

इसके बाद पटना की मेयर के बेटे शिशिर कुमार पर वार्ड पार्षद पिंकी कुमारी ने कदमकुआं थाने में मामला दर्जल कराया है जिसमें उन्होंने जान से मारने धमकी और छेड़खानी का आरोप लगाया है। कदमकुंआ थाना में केस दर्ज कराने के बाद पिंकी देवी ने कहा कि अगर उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो वो महिला आयोग भी जाएंगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री भी इस मामले में संज्ञान लें।

ये था मामला

मंगलवार को नगर निगम बोर्ड की बैठक थी जिसके दौरान अफसरशाही और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर पार्षदों के बीच जमकर हंगामा हुआ। ये हंगामा तब और बढ़ गया जब वार्ड 21 की महिला पार्षद पिंकी कुमारी ने मेयर सीता साहू के बेटे शिशिर पर आंख मारने और गंदे इशारा करने का आरोप लगाया।

मामले में बीच-बचाव करने आए वार्ड 48 के पार्षद सह सशक्त स्थायी समिति के सदस्य इंद्रदीप चंद्रवंशी और वार्ड 47 के पार्षद सतीश गुप्ता भी महिला पार्षद से भिड़ गए। नौबत मारपीट की बन गई। किसी तरह अन्य पार्षदों ने स्थिति संभाली। 

इस बाबत महिला पार्षद पिंकी कुमारी ने मेयर पुत्र शिशिर पर दो बार आंख मारने व गंदे इशारा करने जबकि वार्ड 48 के पार्षद सह सशक्त स्थायी समिति के सदस्य इंद्रदीप चंद्रवंशी और वार्ड 47 के पार्षद सतीश गुप्ता के खिलाफ मारपीट और गाली देने की शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है। 

शिकायत लेकर मेयर के पास पहुंची थीं पार्षद

निगम के बांकीपुर अंचल सभागार में बुलाई गई बोर्ड की बैठक खत्म होने के बाद वार्ड 21 की पार्षद पिंकी कुमारी मेयर सीता साहू के पास पहुंचीं। पार्षद ने मेयर के बेटे शिशिर पर आंख मारने और गंदा इशारा करने का आरोप लगाया। उस वक्त शिशिर सभागार में ही खाना खान रहे थे। वे खाना छोड़ पिंकी कुमारी के पास पहुंचे। इस मुद्दे पर दोनों के बीच बहसा -बहसी होने लगी। मामला बिगड़ते देख वहां मौजूद लोगों ने शिशिर को वहां से हटा दिया। 

 इसी बीच वार्ड 48 के पार्षद और सशक्त स्थायी समिति के सदस्य इंद्रदीप चंद्रवंशी वहां पहुंचे और पिंकी कुमारी के आरोप को निराधार बताने लगे। इस पर महिला पार्षद ने कहा कि वे मेयर से शिकायत करने आई हैं। वे बीच में बोलने वाले कौन हैं? चुप रहें। 

 इस बात पर इंद्रदीप चंद्रवंशी गुस्से में आ आ गए। देखते ही देखते चंद्रवंशी ने पार्षद पिंकी कुमारी की तरफ गुस्से में बढ़े मगर वहां मौजूद अन्य पार्षदों ने उनका हाथ पकड़ लिया और वहां से ले गए। 

आवाज उठाने पर की गंदी हरकत : पिंकी

पार्षद पिंकी कुमारी ने कहा कि उन्होंने जब भ्रष्टाचार और जनहित के मुद्दे को लेकर बोर्ड की बैठक में अपनी आवाज बुलंद की तो बौखलाकर मेयर पुत्र ने ऐसी गंदी हरकत की। महिला पार्षद ने पार्षद सतीश गुप्ता और इंद्रदीप चंद्रवंशी पर भी गाली देने और गलत तरीके से उनका हाथ पकडऩे का आरोप लगाया है। 

मेयर पुत्र और पार्षद ने कहा- की जा रही साजिश

महिला पार्षद के आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए मेयर के बेटे शिशिर ने कहा कि उनके खिलाफ साजिश की जा रही है। सशक्त स्थायी समिति से हटाने के बाद महिला पार्षद बदले की भावना से ऐसी अफवाह फैला रही हैं। इस बाबत इंद्रदीप चंद्रवंशी ने कहा कि उनके ऊपर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं। स्थायी समिति से हटाने के बाद प्रतिशोध में वे ऐसा कर रही हैं। 

 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप