राज्य ब्यूरो, पटना : भारत सरकार के विधि मंत्रालय ने पटना हाईकोर्ट में जजों की नियुक्ति के लिए चार नामों पर अपनी स्वीकृति दे दी है। 14 अक्टूबर को केंद्र के विधि मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी कर पटना हाईकोर्ट के वकील कोटे से संदीप कुमार, पुर्नेंदु सिंह, सत्यव्रत वर्मा एवं राजेश कुमार वर्मा को पटना हाईकोर्ट के न्यायाधीश के पद पर नियुक्त करने पर अपनी स्वीकृति दे दी है। बताते चलें कि बीते 30 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने पटना हाईकोर्ट में जजों की नियुक्ति हेतु आठ नामों की अनुशंसा की थी, जिसमें से दो न्यायिक सेवा एवं छह अधिवक्ता कोटे से थे। गौरतलब है कि न्यायिक सेवा से चुने गए दो न्यायाधीशों ने केंद्र की स्वीकृति के बाद सात अक्टूबर को पटना हाईकोर्ट के जज के रूप में शपथ ग्रहण की थी। केंद्र सरकार जल्द ही अधिवक्ता कोटे से अन्य दो नामों पर अपनी स्वीकृति दे सकती है। पटना हाईकोर्ट में जजों के स्वीकृत पद 53 हैं, जिसमें से मुख्य न्यायाधीश को मिलाकर कुल 19 जज ही कार्यरत हैं।

फिलहाल केंद्र सरकार की स्वीकृति मिलने के बाद संदीप कुमार, पुर्नेंदु सिंह, सत्यव्रत वर्मा एवं राजेश कुमार वर्मा को पटना हाईकोर्ट के न्यायाधीश के पद पर नियुक्त किया गया है। बता दें कि पिछले महीने पटना हाईकोर्ट में आठ नए जजों की नियुक्ति की गई थी। अधिवक्ता कोटे से पूर्णेंदु सिंह, सत्यव्रत वर्मा, राजेश कुमार वर्मा खातिम रजा, संदीप कुमार, अंशुमन पांडेय तथा न्यायिक सेवा से नवनीत कुमार पांडेय एवं सुनील कुमार पंवार चुने गए थे। पिछले महीने ही सुप्रीम कोर्ट ने चार न्यायाधीशों को राज्यों के उच्च न्यायालयों से पटना हाई कोर्ट में स्थानांतरित किया था। इनमें केरल हाई कोर्ट के न्यायाधीश एएम बदर, पंजाब व हरियाणा हाई कोर्ट के न्यायाधीश राजन गुप्ता,  कर्नाटक हाई कोर्ट के न्यायाधीश पीबी बजन्थरी, राजस्थान हाई कोर्ट के न्यायाधीश संजीव प्रकाश शर्मा का स्थानांतरण पटना हाई कोर्ट में करने की अनुशंसा सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम द्वारा की गई है।

Edited By: Akshay Pandey