Move to Jagran APP

Pashupati Paras: पशुपति पारस का कार्यालय क्यों छीना गया? नीतीश के करीबी मंत्री ने बताई चौंकाने वाली वजह

Bihar Politics In Hindi पशुपति कुमार पारस की पार्टी रालोजपा का आवंटन रद्द कर दिया गया है। रालोजपा के ऑफिस को अब चिराग पासवान की पार्टी लोजपा (रामविलास) के नाम पर अलॉट कर दिया गया है। इसको लेकर बिहार की सियासत में बवाल मचा है। इस संबंध में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के करीबी मंत्री ने सबकुछ स्पष्ट कर दिया है।

By Dina Nath Sahani Edited By: Mukul Kumar Wed, 10 Jul 2024 07:27 PM (IST)
नीतीश कुमार और पशुपति कुमार पारस। फोटो- जागरण

राज्य ब्यूरो, पटना। Bihar Politics News Hindi प्रदेश जदयू कार्यालय में बुधवार को आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम में भवन निर्माण मंत्री जयंत राज और शिक्षा मंत्री सुनील कुमार शामिल हुए। मंत्रियों ने विभिन्न जिलों से आए लोगों की समस्याओं को सुना और निष्पादन के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया।

इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए भवन निर्माण मंत्री ने कहा कि सरकारी नियमावली के तहत राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (रालोजपा) का कार्यालय आवंटन रद्द किया गया है।

राजनीतिक प्रतिशोध का आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद है। उन्होंने यह भी बताया कि रालोजपा को आवंटित आवास का किराया पिछले दो वर्षों से बाकी था।

बता दें कि मंगलवार को पशुपति कुमार पारस (Pashupati Kumar Paras) की पार्टी रालोजपा का कार्यालय चिराग पासवान (Chirag Paswan) की पार्टी लोजपा (रामविलास) के नाम पर आवंटित कर दिया गया।

इसके बाद, बिहार में सियासत तेज हो गई। इसको लेकर राजनीतिक प्रतिशोध का आरोप लगाया गया। मामला इतना बढ़ गया कि मंत्री को इस मामले में जवाब देना पड़ा। 

कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर होगा शिक्षकों के स्थानातंरण : शिक्षा मंत्री

शिक्षा मंत्री सुनील कुमार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि राज्य के सरकारी विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के स्थानांतरण और पदस्थापना संबंधित नई नीति बनाने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा उच्चस्तरीय कमेटी का गठन किया गया है।

शिक्षकों की वास्तविक समस्याओं का अवलोकन कर कमेटी अगले दो-तीन सप्ताह में अपना विस्तृत रिपोर्ट देगी। विभाग के स्तर पर कमेटी की रिपोर्ट की समीक्षा होगी। इसके बाद शिक्षकों के स्थानातंरण पर निर्णय लिया जाएगा।

कार्यक्रम में विधान पार्षद व कोषाध्यक्ष ललन कुमार सर्राफ, संजय कुमार सिंह उर्फ गांधी जी, नवीन कुमार आर्या एवं अरुण कुमार सिंह मौजूद थे।

यह भी पढ़ें-

संसदीय क्षेत्र-मंत्रालय के बाद Pashupati Paras के कार्यालय पर भी Chirag का कब्जा, पिछले महीने ही कर दिया था खेल

Chirag Paswan: किसके नेतृत्व में विधानसभा चुनाव लड़ेंगे चिराग पासवान? कर दिया बड़ा एलान; बदलेगा 2020 वाला समीकरण