राज्य ब्यूरो, पटना : पूर्व सांसद पप्पू यादव को जेल भेजने के मामले में उनकी पत्नी व पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी और ड्रग्स माफिया के खिलाफ जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि अगर दो दिनों में पप्पू यादव की रिहाई नहीं हुई, तो वे मुख्यमंत्री राजीव प्रताप रूडी और भाजपाइयों के खिलाफ कार्रवाई करेंगी। रंजीत रंजन गुरुवार को पटना में प्रेस से बात कर रही थीं।

रंजीत ने कहा कि महामारी में राजनीति राजनीति खेलने का वक्त नहीं है, इस वक्त हमसबों को एक दूसरे का सपोर्ट करना चाहिए। आज पप्पू यादव के साथ लोग इसलिए नहीं खड़े हैं कि चुनाव होने वाला है। या कोई बड़ी पार्टी है। आज लोग इसलिए खड़े हैं कि महामारी चल रही है। दूसरी लहर चल रही है। लोगों की जानें जा रहे हैं। सबलोग भयभीत हैं। मैं पूछना चाहती हूं पप्पू यादव का कौन सा अपराध था, जिसमें जेल भेजा गया। लॉकडाउन उल्लंघन मामले में गिरफ्तार किया गया। फिर बाद में 32 साल पुराने के केस में उन्हें जेल भेजा गया। क्यों भेजा गया। किसलिए भेजा गया। कौन सा। अपराध था और वे कौन लोग हैं जिनके इशारे पर ये कार्रवाई हुई है। 

भाजपा का पूरे देश में गुंडाराज चल रहा

रंजीत ने कहा कि नीतीश बाबू अगर आप इतने मजबूर थे, तो हमलोग को बता देते कि बहुत कम विधायक आये हैं। भाजपा का पूरे देश में गुंडाराज चल रहा है। ऐसी कौन सी चीजें हैं, जिसके दबाव में आप वो सबकुछ कर रहे हैं, जो बिहार को गवारा नहीं। बालिका गृह कांड है। क्या आपके केस हैं। 1991 में हत्या का केस हुआ 2011 में रफा। दफा करा लिया। 89 में जिस कांड में आपने पप्पू यादव पर केस हुआ। इस कांड का सूचक, आज तीनो लोगों का वीडियो चल रहा है कि केस फर्जी है। 32 साल बाद पुराना केस महामारी के वक्त याद आया क्यों? इसी में सब छुपा है। 

ट्राइवरों को क्यों नहीं दी ट्रेनिंग

उन्होंने पूछा कि रूडी पायलट थे, किसके आशीर्वाद से मंत्री बने, कैसे राजनीति में आये। उत्तराखंड फार्म हाउस, बिहार, दिल्ली से लेकर जितने भी स्टाफ हैं, उसकी सैलरी कहां से दे रहे हैं। कांस्टीट्यूशन क्लब का इंचार्ज जब बनाया गया, तब कितना घोटाला हुआ। स्किल इंडिया के मिनिस्टर थे और मोदी साहब ने क्यों हटाया। स्किल इंडिया में एम्बुलेंस ड्राइवर को ट्रेनिंग देनी थी, क्यों नहीं दी। ये सब आप बताएं। जिनके घर शीशे के हों, वो वैसे लोगों को पत्थर न मारे।