संवाद सहयोगी, बाढ़ : अनुमंडल के पछियारी मलाही गांव के किसान शत्रुघ्न राम शुक्रवार को करंट लगने से झुलस गए। ग्रामीण और स्वजनों ने गंभीर हालत में सदर अस्पताल लाया, जहां मौत हो गई। इलाज देर से शुरू होने का आरोप लगाते हुए ग्रामीण और स्वजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया। स्वजनों ने डाक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ गालीगलौच की। शव के साथ ग्रामीणों ने मलाही के समीप एनएच-31 को जाम कर दिया और हंगामा किया।

ग्रामीण मिथलेश यादव ने बताया कि 50 वर्षीय शत्रुघ्न राम शुक्रवार को अपने खेत की ओ जा रहे थे। खेत में पहले से तार गिरा हुआ था और उसमें करंट प्रवाहित हो रहा था। तार हटाने के दौरान शत्रुघ्न राम करंट की चपेट में आ गए। ग्रामीण और स्वजन अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

किसान शत्रुघ्न राम के भाई ने बताया कि करंट लगने के बाद अस्पताल लाया गया था। यदि डाक्टर सही समय पर इलाज करते तो भाई की जान बचाई जा सकती थी। अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। वहीं अस्पताल प्रबंधन ने कहना है कि किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती गई है। चिकित्सकों ने सही वक्त पर जांच की और जांच के बाद व्यक्ति को मृत पाया गया।

मौत से आक्रोशित स्वजनों ने मलाही के समीप एनएच 31 को जाम कर हंगामा किया। सूचना मिलने पर पहुंची बाढ़ पुलिस ने ग्रामीणों को शांत करा जाम को हटाया। इसके बाद स्वजन और कई ग्रामीण अस्पताल पहुंच गए जहां जमकर हंगामा किया। बाद में पुलिस और स्थानीय नागरिकों के समझाने पर मामले को शांत किया गया। स्वजन मुआवजे की मांग कर रहे थे।

Edited By: Jagran