पटना। तीसरी लहर की जो संक्रमण दर 13 जनवरी को रिकार्ड 23.02 प्रतिशत तक पहुंच गई थी, सोमवार को घटकर यह 16.01 प्रतिशत हो गई है। लगातार पांचवें दिन राजधानी में नए संक्रमितों की संख्या में भारी गिरावट आई थी। रविवार को जहां 1,575 संक्रमित मिले थे, वहीं सोमवार इसमें करीब 66 प्रतिशत की गिरावट देखी गई। बावजूद इसके कोरोना विशेषज्ञ इसे तीसरी लहर का अवसान करार देने को जल्दबाजी बता रहे हैं। उनके अनुसार दिल्ली-मुंबई में चरम पर पहुंचने के बाद अब मामले कम हो रहे हैं, वहीं पटना व प्रदेश में अभी तीसरी लहर का पीक आया ही नहीं है।

----------

बहुत से लोग नहीं करा रहे जांच एम्स के कोरोना नोडल पदाधिकारी डा. संजीव कुमार के अनुसार संक्रमण के लक्षण बहुत हल्के होने के कारण अब बहुत से लोग जांच नहीं करा रहे हैं। सोमवार को 6,464 लोगों की जांच की, जिनमें 1,035 की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। ऐसे में लगातार पांच दिनों से संक्रमण दर कम होने या संक्रमितों की संख्या घटने का यह तात्पर्य यह नहीं है कि आगे भी यह क्रम जारी रहेगा और कुछ दिन में तीसरी लहर खत्म हो जाएगी। अभी किसी भी दिन संक्रमितों की संख्या अप्रत्याशित रूप से बढ़ सकती है, इसलिए मास्क पहनने के साथ भीड़भाड़ वाली जगह जाने से बचना जरूरी है।

----------

दस दिन लगातार घटने

पर ही कर सकते आकलन

एनएमसीएच में मेडिसिन विभागाध्यक्ष डा. अजय कुमार सिन्हा ने कहा कि नए ओमिक्रोन वैरिएंट के लक्षण बहुत हल्के होने के कारण लोग जांच नहीं करा रहे है। ऐसे में संक्रमण दर का सही आकलन नहीं हो पा रहा है। लगातार दस दिन में यदि संक्रमितों की संख्या के साथ उपचाराधीन मरीजों और अस्पतालों में मरीजों की संख्या कम होती जाती है तो कोई संभावना व्यक्त की जा सकती है।

-------

तिथि, जांच, संक्रमित, संक्रमण दर

-10 जनवरी--11,931--2,566-- 21.51

-11 जनवरी--10,665--2,202-- 20.65 -12 जनवरी--10,143--2,014-- 19.43 -13 जनवरी--9,882--2,275-- 23.02 -14 जनवरी--9,768--2,116-- 21.6 -15 जनवरी--11,971--2,305-- 19.05 -16 जनवरी--9,050--1,575-- 17.40 -17 जनवरी-- 6,464--1,035-- 16.01

Edited By: Jagran