पटना, जेएनएन। लॉकडाउन को लेकर अब लोग समझदारी दिखाने लगे हैं। खरीदारी में सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी ख्‍याल लोग रखने लगे हैं। साथ ही इसे लेकर दुकानदार भी सतर्क हो गए हैं। एक मीटर से लेकर डेढ़ मीटर तक की दूरी पर गोल घेरा बनाया जा रहा है। पटना ही नहीं, बिहार के अन्‍य जिलों में भी इसे लेकर लोग काफी सतर्क हो गए हैं। इसे लेकर पटना नगर निगम भी खासा सक्रिय है और फल से लेकर किराना व दवा दुकानों के आगे में चूना से गोल घेरा बना दिया गया है, ताकि कोरोना की जंग को जीता जा सके और पब्लिक को भी खरीदारी में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो। बता दें कि सबसे पहले बिहार में इसकी शुरुअात मुंगेर में की गई थी। इसमें मुंगेर की एसपी लिपि सिंह की सराहनीय पहल रही। 

 

इधर, बिहार में लॉक डाउन के पांचवें दिन शुक्रवार को पटना के अशोक नगर में सराहनीय पहल देखी गई। बिहार राज्य व्यवसायी कल्याण महासंघ की ओर से पटना के कंकड़बाग में अच्छी पहल की गई। सामान्‍य दरों पर आटा-चीनी से लेकर आलू-प्‍याज तक का लोगों को मुहैया कराया गया। यह पहल बिहार राज्य व्यवसायी कल्याण महासंघ की ओर से की गई। खासकर उचित मूल्‍यों पर तो सामान दिए ही गए, सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी पूरा ख्‍याल रखा गया। महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष दीपक कुमार अग्रवाल ने बताया कि हमें जानकारी मिली कि कुछ दुकानदार जरूरतमंद सामानों को मनमानी कीमतों पर दे रहे हैं। आटा की किल्‍लत बतायी जा रही है। ऐसे में लॉकडाउन से परेशान लोगों को हमारे महासंघ ने कंकड़बाग के अशोक नगर में उचित दामों पर ये सामान उपलब्‍ध कराए। 

उन्‍होंने बताया कि इतना ही नहीं, सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी ध्‍यान रखा गया, ताकि किसी को भी कोई प्रॉब्‍लम नहीं हो और न ही सरकार की ओर से बनाए गए नियम ही टूटे। आटा- 26 रुपये, चीनी- 40 रुपये, आलू- 20 रुपये, प्‍याज- 30 रुपये समेत चावल, दाल व अन्‍य सामान उचित मूल्‍य पर दिए गए। इस दौरान सभी ग्राहक भी सोशल डिस्‍टेंसिंग का ख्‍याल रखा। गोल घेरे में रहकर लोगों ने खरीदारी की। उन्‍हाेंने बताया कि लगभग 800 लोगों ने इस विशेष स्‍टॉल पर सामानों की खरीदारी की। सबसे अधिक बिक्री आटा व आलू की हुई। इसमें समाजसेवी मनोज मुन्‍ना, मनोज गुड्डू, अजय सिंह, प्रदीप झा आदि ने सहयोग किया। उधर, अखिल भारतीय अपराध विरामोर्चा के अध्‍यक्ष धनवंत सिंह राठौर ने भी मार्मिक अपील जारी की है और कहा है कि पटना में किसी को भी भोजन या राशन की जरूरत हो, वे संपर्क करें। जरूरतमंदों को भोजन व राशन उपलब्‍ध कराया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि मानवता ही सर्वोपरि है। कोरोना वैश्‍विक लड़ाई है, सतर्क रहें।  

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस