पटना, जागरण संवाददाता। कदमकुआं थाना क्षेत्र के मछुआटोली के आर्यकुमार रोड में महाराणा प्रताप भवन के नजदीक मंगलवार की रात करीब साढ़े 12 बजे अज्ञात अपराधियों ने कुख्यात सैंटी दीक्षित को गोलियों से भून डाला, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। सैंटी शराब बिक्री, फायरिंग, रंगदारी, हत्या का प्रयास समेत कई मामलों में आरोपित रहा है। लगभग एक साल पहले वह जेल से जमानत पर छूट कर आया था।

इधर, घटना की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष विमलेंदु कुमार दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और छानबीन शुरू कर दी। उन्होंने बताया कि आरोपितों की तलाश में छापेमारी शुरू कर दी गई है। वे जल्द गिरफ्त में होंगे। तनाव के मद्देनजर इलाके में पर्याप्त संख्या में बल की तैनाती की गई है।

बताया जाता है कि काल आने के बाद सैंटी काजीपुर रोड नंबर दो स्थित घर से गली के रास्ते मछुआटोली पहुंचा था, जहां पहले से घात लगाए बैठे दो अपराधी उस पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाने लगे। करीब छह गोली सैंटी को लगी और वह जमीन पर गिर गया। वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारे बाइक से खजांची रोड की तरफ भाग निकले।

फायरिंग की आवाज सुनकर स्थानीय लोग जमा हुए और लहूलुहान हाल में उसे कंकड़बाग के एक निजी अस्पताल में लेकर गए, जहां डाक्टरों ने सैंटी को मृत घोषित कर दिया। हत्या का कारण क्रिकेट मैच में सट्टा लगाने का अवैध कारोबार बताया जा रहा है। पुलिस को जानकारी मिली है कि हाल ही में सैंटी ने स्कार्पियो खरीदी थी। इससे तीन महीने पहले एक और कार भी ली थी। अंदेशा है कि अवैध धंधे से अर्जित रुपयों के बंटवारे को लेकर उसकी हत्या की गई।

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट