पटना, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को कहा कि राज्य सरकार के वैसे सरकारी भवन जो कार्यरत नहीं हैैंं, वहां भी आइसोलेशन सेंटर बनाए जा सकते हैैं। इसके अलावा निजी व्यावसायिक भवनों एवं होटलों में भी आइसोलेशन सेंटर बनाएं। निजी क्षेत्र में भी कोरोना संक्रमण की जांच की सुविधा उपलब्ध करायी जाए। स्वास्थ्य विभाग के साथ समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने यह बात कही।

मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया कि निजी सेक्टर में भी कोरोना संक्रमण के जांच की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए समुचित कार्रवाई की जाए। सभी लोगों की सुरक्षा हमारा दायित्व है। बाहर से आ रहे लोगों को काफी तकलीफ झेलनी पड़ी है। उनकी हिफाजत हम सबों को करनी है। इसके लिए पूरी तैयारी रखें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सुरक्षा उपकरण, टेस्टिंग किट्स, ऑक्सीजन सिलेंडर आदि पर्याप्त संख्या में उपलब्ध रहे। इसकी उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए अनिवार्य कदम उठाएं। वेंटिलेटरों की भी संख्या बढ़ाएं। इसके लिए मार्च से ही निर्देश दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी जिलों में आइसोलेशन बेड की संख्या पूरी तैयारी के साथ बढ़ाने की आवश्यकता है। 

नीतीश ने कहा कि क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे लोगों की नियमित हेल्थ स्क्रीनिंग की जाए। वहां रह रहे लोगों में बीमारी के लक्षणों की सतत निगरानी भी हो। उन्होंने लोगों से अपील की कि ऐसे लोगों के प्रति सकारात्मक रवैया रखें जो क्वारंटाइन सेंटर पर निर्धारित अवधि पूरी कर अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर जा रहे हैैं। उन्होंने आज पुन: दोहराया कि बाहर से आ रहे लोगों की अधिक से अधिक संख्या में जांच करायी जाए। टेस्टिंग कैपिसिटी को और बढ़ाना होगा। इसके लिए जरूरी कदम शीघ्र उठाएं।

उन्‍होंने कहा कि बाहर से आए श्रमिकों की पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर डोर टू डोर विस्तृत स्क्रीनिंग उपयुक्त टीम के माध्यम से करायी जाए। हेेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को और मजबूत किया जाए तथा इसका विस्तार किया जाए। भविष्य में कोरोना संक्रमण बढऩे की आशंका को देखते हुए सभी तैयारियों को पहले से ही रखें। अगर सभी तैयारियां पहले से रहेंगी तो हमलोग कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में सफल होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को कोरोना संक्रमण के संबंध में लगातार जागरूक करने की आवश्यकता है। लोग कोरोना से घबराएं नहीं, बल्कि सचेत और सतर्क रहें। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप