राजगीर से रमण शुक्ला। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विश्व प्रसिद्ध धर्मस्थल राजगीर के लिए हर घर गंगा जल आपूर्ति योजना का शुभारंभ करते हुए रविवार को अंतरराष्ट्रीय कनवेंशन सेंटर में जरासंध स्मारक बनाने की घोषणा की। इस दौरान मुख्‍यमंत्री ने केंद्र सरकार पर कटाक्ष किया। उन्‍होंने कहा कि राजगीर की पहचान जरासंध से भी है। जरासंध के अखाड़ा के विकास के लिए मैं कई वर्षों से केंद्र सरकार के पुरातत्‍व विभाग से आग्रह कर रहा था, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। इसलिए बिहार सरकार अब ठीक इसके बगल में जरासंध स्मारक बनाएगी। इससे पहले कार्यक्रम को उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, वित्त मंत्री विजय चौधरी और जल संसाधन मंत्री संजय झा ने संबोधित किया। 

17 वर्षों में पूरी की गई तमाम योजनाएं गिनाईं

नीतीश ने राजगीर में पिछले 17 वर्षों में विकसित तमाम योजनाएं गिनाईं। नेचर सफारी, जू सफारी, घोड़ा कटोरा, पांडू पोखर, नालंदा विश्वविद्यालय और कई प्रमुख विकास योजनाओं का जिक्र किया। राजगीर में एयरपोर्ट की मांग पर उन्‍होंने कहा कि ऐसा मैं भी चाहता था। लेकिन केंद्र इस पर राजी नहीं हुआ। अब इतना अच्‍छा रोड बनेगा कि एक घंटे में राजगीर से पटना पहुंचा जा सकेगा।

सभी धर्मों के तीर्थों के लिए हुआ काम

नीतीश कुमार ने कहा कि भगवान बुद्ध की याद में विकसित वेणु वन, भगवान महावीर और जैन धर्म से जुड़े अन्‍य मंदिर, जैन धर्मशाला, गुरु नानक देव के शीतल कुंड व सिखों से जुड़े अन्‍य तीर्थ, हिंदू धर्म से जुड़े गर्म कुंड और मुसलमान धर्मावलंबियों के मखदुम कुंड के विकास का उल्‍लेख किया। कहा कि यहां सभी धर्मों से जुड़े स्‍थलों के लिए समान रूप से काम हुआ है। बचपन में जब राजगीर आता और तमाम कुंडों में स्‍नान करने जाता था, तो मखदुम कुंड में भी चला जाता था।

मुख्यमंत्री को काम करने में विश्वास

उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि इस योजना को पूरा करने का सारा श्रेय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जाता है। मुख्यमंत्री बोलने में नहीं, बल्कि काम करने में विश्वास करते हैं। महागठबंधन की सरकार आम लोगों की जरूरत के हर मसले पर काम कर रही है। 

सोच से बढ़कर काम करते हैं नीतीश

बिहार सरकार के वित्त मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार ऐसा काम करके दिखाते हैं, जिसके बारे में लोग सोचते भी नहीं हैं। राजगीर की यह योजना इसका उदाहरण है। उन्‍होंने कहा कि राजगीर का हर आदमी अब अपने घर में ही गंगा नहा सकेगा।

ऐतिहासिक फैसलों एवं कार्यों की सूची बहुत लंबी

इससे पहले संजय झा ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार में नीतीश कुमार जी के नेतृत्व में हुए ऐतिहासिक फैसलों एवं कार्यों की सूची बहुत लंबी है। उस सूची में अब 'गंगा जल आपूर्ति योजना' भी प्रमुखता से जुड़ गई है। कहीं बाढ़ तो कहीं सुखाड़ की स्थिति से जूझते बिहार के लिए गंगा जल आपूर्ति योजना एक 'गेम चेंजर योजना' साबित होगी। यह योजना नदी जल के सम्यक प्रबंधन और पर्यावरण के अनुकूल विकास का एक अनूठा उदाहरण है। यह योजना देश-विदेश के लिए नजीर बनेगी

करीब एक लाख घरों को मिलेगा शुद्ध जल

संजय झा ने कहा कि इस योजना के तहत राजगीर शहर के 19 वार्डों के करीब 8031 घरों, गया शहर के 53 वार्डों के 75000 घरों और बोधगया शहर के 19 वार्डों के 6000 घरों में शुद्ध पेयजल के रूप में 'हर घर गंगाजल' की आपूर्ति की जाएगी। योजना के तहत प्रतिव्यक्ति प्रतिदिन 135 लीटर शुद्ध जल की आपूर्ति का लक्ष्य है। इसके अलावा शहर के संस्थानों, अस्पतालों, होटलों आदि को भी जल की आपूर्ति की जाएगी। राजगीर जू सफारी में रखे गये जीव-जंतुओं तथा नेचर सफारी की वनस्पतियों को भी गंगा जल की आपूर्ति होगी।

नीतीश कुमार को चाहता है पूरा देश

ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार को पूरा देश पुकार रहा है। यह बात ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने कहीं। कहा कि नीतीश कुमार ने न केवल राजगीर गंगा जल आपूर्ति योजना, बल्कि शराबबंदी, बालिका साइकिल योजना जैसी न जाने कितनी ऐसी पहल की, जिनका अनुकरण करना पूरा देश चाहता है।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट